MMS कांड: ‘प्रोफेशनल ब्लैकमेलर’ है आरोपी लड़का, ऐसे सामने आई हैरान करने वाली सच्चाई

आरोपी युवक का नंबर जब छात्रों ने ट्रूकॉलर एप पर डाला तो इसे स्कैमर रिपोर्ट किया गया है. कई लोगों ने इसे स्पैम कर रखा है और इसकी कॉलर आईडी पर कई लोगों ने ब्लैकमेल करने के आरोप भी लगाए हैं.

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बाहर तैनात पुलिस

Image Credit source: PTI

पंजाब के मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में 60 से ज्यादा लड़कियों के वीडियो बनाकर इंटरनेट पर डालने के मामले में आरोपी छात्रा ने जिस युवक का नाम बताया था उसके बारे में एक बड़ा खुलासा हुआ है. आरोपी युवक का नंबर जब छात्रों ने ट्रूकॉलर एप पर डाला तो इसे स्कैमर रिपोर्ट किया गया है. कई लोगों ने इसे स्पैम कर रखा है और इसकी कॉलर आईडी पर कई लोगों ने ब्लैकमेल करने के आरोप भी लगाए हैं.

बता दें कि पुलिस ने फिलहाल आरोपी छात्रा, उसके शिमला में रहने वाले दोस्त और एक अन्य को हिरासत में लिया है. यूनिवर्सिटी के छात्रों ने जब आरोपी युक का नंबर चेक किया तो सभी हैरान हो गए. इस नंबर पर कई लोगों ने कमेंट किया हुआ है जिसमें उन्होंने लिखा है कि यह ब्लैकमेल कर रहा है. इसका सीधा मतलब यह है कि इस युवक ने पहले भी कई लोगों को ब्लैकमेल किया हुआ है.

ट्रूकॉलर पर 55 लोगों ने किया रिपोर्ट

इसके ट्रू कॉलर आईडी के जो स्क्रीन शॉट्स सामने आए हैं उनमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि आरोपी युवक को 55 लोगों ने स्कैमर घोषित कर रिपोर्ट किया है. इतना ही नहीं इसके आईडी पर उन लोगों ने कमेंट भी किए हैं जिन्हें यह ब्लैकमेल करने की कोशिश करा रहा था.एक युवक ने कमेंट किया है, ‘ब्लैकमेलिंग कर रहा है और कॉल कर रहा है.’ वहीं एक दूसरे यूजर ने लिखा, ‘है कौन ये मेरी सिस्टर को ब्लैकमेल कर रहा है.’ इनके अलावा एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘मेरे साथ भी यही दिक्कत है मेरी वाइफ को कॉल कर रहा है.’

ये भी पढ़ें



छात्रा इसी को भेजती थी वीडियोज

मामला सामने आने के बाद आरोपी छात्रा से यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पूछताछ की थी इस दौरान छात्रा ने कबूल किया था कि वह शिमला में रहने वाले एक शख्स को वीडियोज भेजती थी. बताया जा रहा है कि यह वह युवक है जो उन वीडियोज को इंटरनेट पर अपलोड करता था. आरोपी छात्रा ने पुलिस को भी बताया है कि युवक ने उसे भी ब्लैकमेल किया है क्योंकि उसकी वीडियोज इस युवक के पास है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.