MI vs CSK IPL 2022: मुंबई और चेन्नई दोनों का एक सा हाल और एक सा दर्द, जीत नहीं मिली तो सब खत्म!

Rohit Sharma Ravindra Jadeja

लगातार छह हार के बाद बाहर होने की कगार पर पहुंची मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) की टीम 21 अप्रैल को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ जीत दर्ज करके आईपीएल 2022 (IPL 2022) में अपनी उम्मीदें बरकरार रखने की कोशिश करेगी. पांच बार की चैम्पियन मुंबई की टीम ने इस सत्र में एक भी मैच नहीं जीता है और हारने पर वह टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी. मौजूदा चैंपियन चेन्नई (Chennai Super Kings) की स्थिति भी अच्छी नहीं है और वह अंकतालिका में सबसे निचले स्थान पर स्थित मुंबई से केवल एक पायदान ऊपर है. उसकी टीम को भी छह मैचों में से पांच में हार का सामना करना पड़ा है और गुरुवार को हार से वह बाहर होने के कगार पर पहुंच जाएगी.

मुंबई के लिए सबसे बड़ी चिंता कप्तान रोहित शर्मा की फॉर्म है. उन्होंने छह मैचों में केवल 114 रन बनाए हैं. मुंबई को अगर लक्ष्य का पीछा करना है या पहले खेलते हुए बड़ा स्कोर बनाना है तो रोहित को बड़ी पारी खेलनी होगी. युवा बल्लेबाज इशान किशन भी अपनी 15.25 करोड़ रुपये की मोटी कीमत को सही साबित नहीं कर पाये हैं. उन्होंने छह मैचों में दो अर्धशतकों की मदद से 191 रन बनाये हैं. डेवाल्ड ब्रेविस, तिलक वर्मा और सूर्यकुमार यादव ने कुछ अच्छी पारियां खेली हैं लेकिन उन्हें मिलकर मध्य क्रम में जिम्मेदारी लेने की जरूरत है. ऑलराउंडर कायरन पोलार्ड ने भी अब तक निराश किया है जिनकी मैच विजेता की छवि धूमिल पड़ती जा रही है. वह अब तक हर मैच में नाकाम रहे हैं और उन्होंने सिर्फ 82 रन बनाये हैं.

मुंबई की बॉलिंग ने भी किया निराश

मुंबई के पास कागजों पर अच्छी बल्लेबाजी तो है जो चेन्नई के अपेक्षाकृत कम अनुभवी आक्रमण पर हावी हो सकता है. मुंबई के लिये बल्लेबाजी से अधिक गेंदबाजी चिंता का विषय है. जसप्रीत बुमराह को छोड़कर उसके अन्य गेंदबाजों ने अब तक लचर प्रदर्शन किया है. टाइमल मिल्स, जयदेव उनादकट, बासिल थम्पी या मुख्य स्पिनर मुरुगन अश्विन को अब अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. मिल्स ने अपने आखिरी मैच में लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ तीन ओवर में 54 रन लुटाए, जबकि उनादकट और अश्विन ने क्रमशः 32 और 33 रन दिये. मुंबई ने फैबियन एलन को आजमाया लेकिन वह भी चार ओवर में 46 रन लुटा गये.

चेन्नई को भारी पड़ रही मिडिल ऑर्डर की नाकामी

चेन्नई के लिए ऋतुराज गायकवाड़ की फॉर्म में वापसी सकारात्मक संकेत है. उन्होंने गुजरात टाइटन्स के खिलाफ पिछले मैच में 48 गेंदों में 73 रन बनाये थे. रॉबिन उथप्पा और शिवम दुबे ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ अपनी आक्रामक बल्लेबाजी का शानदार नमूना पेश किया था लेकिन गुजरात के खिलाफ वे नहीं चल पाये थे.

दुबे को मध्यक्रम में अंबाती रायडू और मोईन अली के साथ मिलकर अधिक जिम्मेदारी निभाने की जरूरत है. कप्तान रवींद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी फिनिशर की निभा सकते हैं. जडेजा वास्तव में गेंदबाजी में खतरनाक नहीं दिख रहे हैं और अगर उनकी टीम को मुंबई के बल्लेबाजों को रोकना है तो उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है.

बॉलिंग भी कर रही परेशान

ड्वेन ब्रावो और स्पिनर महेश तीक्षणा को छोड़कर चेन्नई के गेंदबाजों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है. मुकेश चौधरी रन लुटा रहे हैं जबकि क्रिस जॉर्डन ने भी गुजरात के खिलाफ 58 रन लुटाये थे. दीपक चाहर के बाहर होने और एडम मिल्न के अभी तक पूरी तरह फिट नहीं हो पाने के कारण चेन्नई का दारोमदार इन्हीं गेंदबाजों पर टिका है.

मुंबई-चेन्नई की टीम इस प्रकार हैं :

मुंबई इंडियन्स : रोहित शर्मा (कप्तान), अनमोलप्रीत सिंह, राहुल बुद्धि, रमनदीप सिंह, सूर्यकुमार यादव, तिलक वर्मा, टिम डेविड, अर्जुन तेंदुलकर, बासिल थम्पी, ऋतिक शौकीन, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट, मयंक मार्कंडे, मुरुगन अश्विन, राइली मेरेडिथ, टाइमल मिल्स, अरशद खान, डेनियल सैम्स, डेवाल्ड ब्रेविस, फैबियन एलन, कायरन पोलार्ड, संजय यादव, आर्यन जुयाल और इशान किशन.

चेन्नई सुपर किंग्स: रवींद्र जडेजा (कप्तान), महेंद्र सिंह धोनी, मोईन अली, ऋतुराज गायकवाड़, ड्वेन ब्रावो, अंबाती रायडू, रॉबिन उथप्पा, मिचेल सेंटनर, क्रिस जॉर्डन, एडम मिल्न, डेवोन कॉनवे, शिवम दुबे, ड्वेन प्रिटोरियस, महेश तीक्ष्णा, राजवर्धन हंगरगेकर, तुषार देशपांडे, केएम आसिफ, सी हरि निशांत, एन जगदीसन, सुभ्रांषु सेनापति, के भगत वर्मा, प्रशांत सोलंकी, सिमरजीत सिंह, मुकेश चौधरी.

Similar Posts