Maharashtra Political Crisis: चार्टर्ड प्लेन, आलीशान होटल… जानिए एकनाथ शिंदे के बागी गुट के विधायकों पर कितना हो रहा खर्च

Radissan Hotel

महाराष्ट्र के राजनीतिक उठापठक (Maharashtra Political Crisis) के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) का एक अहम बयान सामने आया है. ममता बनर्जी ने कहा है कि महाराष्ट्र में जो कुछ भी हो रहा है उसके पीछे बीजेपी का मनी और मसल्स पावर काम कर रहा है. यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है. कभी ऐसा भी वक्त आएगा जब बीजेपी के साथ भी कोई ऐसा ही खेल कर जाएगा. महाराष्ट्र सरकार के साथ नाइंसाफी हो रही है. यह तुरंत रोकी जानी चाहिए. ममता बनर्जी ने कहा कि आज बीजेपी (BJP) के पास ताकत है, कल नहीं रहेगी. तब क्या रह जाएगा? बता दें कि शिवसेना के नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) 55 विधायकों वाली शिवसेना के 34 और शिवसेना समर्थक 8 विधायकों के साथ बागी हो गए हैं. इस वजह से ना सिर्फ शिवसेना के दो भागों में टूटने का संकट है बल्कि महा विकास आघाड़ी सरकार के भी गिरने का संकट खड़ा हो गया है.

एकनाथ शिंदे के साथ 42 विधायक आसाम की राजधान गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में ठहरे हुए हैं. शिवसेना से बगावत करने वाले ये विधायक पहले सूरत के होटल में ठहराए गए थे. यहां से इन विधायकों को चार्टर्ड प्लेन से गुवाहाटी लाया गया.

चार्टर्ड प्लेन का बड़ा खर्चा, होटल में सुख-साधन और हर सुविधा

इतनी बड़ी तादाद में विधायकों को चार्टर्ड प्लेन में भेजने में कितना खर्च हो सकता है उन्हें एक आलीशान होटल में ठहराए जाने में कितना खर्चा हो सकता है, इसका अंदाज लगाना मुश्किल नहीं है. विधायकों का मन बदलने के लिए सीएम उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा देने की भी तैयारी दिखाई है. बस सीएम का कहना है कि उनकी पार्टी के विधायक उनके सामने बैठ कर उनसे बात करें. वे सीएम पद से इस्तीफा देने को तैयार हैं और पार्टी प्रमुख का पद भी छोड़ने को तैयार हैं.

इस बीच गुवाहाटी के होटल में इन बागी विधायकों की सुख सुविधा का पूरा खयाल रखा जा रहा है. रेडिसन होटल के बाहर सुरक्षा व्यवस्था टाइट रखी गई है. हालांकि बीजेपी ने इस पूरी स्थिति को शिवसेना की अंदरुनी समस्या बताया है.

इन सबके पीछे बीजेपी? होटल क्यों पहुंचे आसाम के मुख्यमंत्री?

इस पूरे राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर एनसीपी, कांग्रेस, टीएमसी जैसी विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी का हाथ होने का आरोप लगाया है. टीएमसी नेता ममता बनर्जी के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने साफ कहा है कि यह बीजेपी की साजिश है, जो सफल नहीं होगी. एनसीपी प्रमुख शरद पवार पहले ही इसके पीछे बीजेपी का हाथ होने की बात कह चुके हैं.

सूरत में जब बागी विधायक ठहरे थे तो वहां मुंबई से बीजेपी नेता मोहित कंबोज देखे गए थे. गुजरात बीजेपी के कुछ नेता भी दिखाई दिए थे. गुवाहाटी का रेडिसन ब्लू होटल हो या सूरत का ली मेरिडियन होटल हो, शिवसेना के बागी विधायकों की सुविधा का खयाल बीजेपी नेता कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक आसाम के मुख्यमंत्री बागी विधायकों से मिलने पहुंचे थे. रेडिसन ब्लू होटल के कमरों को इन बागी विधायकों के लिए 6 दिनों के लिए बुक किए जाने की बात सामने आ रही है.

जानिए रेडिसन ब्लू होटल के रुम में ठहरने का खर्चा

बता दें कि रेडिसन ब्लू होटल में कुल 90 लोग ठहरे हुए हैं. इनमें शिवसेना और निर्दलीय विधायकों समेत कुछ नेता शामिल हैं. प्राप्त जानकारियों के मुताबिक रेडिसन ब्लू होटल में एक रुम का किराया 6800 रुपए से शुरू होता है. डीलक्स रूम का एक दिन का किराया 8000 रुपया है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि महाराष्ट्र की राजनीतिक उठापठक के लिए प्रतिदिन का खर्चा कितना हो रहा है. कोरोना काल में राजस्थान में ऐसी ही स्थिति पैदा हुई थी. उस वक्त सचिन पायलट बागी विधायकों के साथ हरियाणा पहुंचे थे.

Similar Posts