Maharashtra Political Crisis: ‘आघाड़ी सरकार से शिवसेना बाहर आने को तैयार, अगले 24 घंटे में मुंबई आकर सीएम ठाकरे से चर्चा करें’, शिंदे गुट को संजय राउत ने दिया ऑफर

Sanjay Raut In Nagpur (1)

महाराष्ट्र के राजनीतिक उठापठक (Maharashtra political crisis) के इस दौर में एक साथ दो बड़ा संकट आया हुआ है. एक तरफ तो महा विकास आघाड़ी सरकार संकट में आ चुकी है. दूसरी तरफ शिवसेना का पार्टी के रूप में अस्तित्व बने रहने में संदेह पैदा हो गया है. इस बीच शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut Shiv Sena) ने शिंदे गुट को बड़ा संदेश दिया है. उन्होंने कहा है कि शिवसेना महा विकास आघाड़ी से बाहर आने को तैयार है. शर्त इतनी है कि सारे शिंदे गुट के विधायक अगले 24 घंटे में मुंबई लौटें और अधिकृत रूप से सीएम उद्धव ठाकरे के सामने बैठ कर बात करें. शिवसेना के 55 विधायकों में से 42 विधायकों ने थोड़ी ही देर पहले गुवाहाटी में शक्ति प्रदर्शन किया और ‘एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं, का नारा लगाया. ऐसे में संजय राउत ने शिवसेना का अस्तित्व बचाने के लिए महा विकास आघाड़ी से बाहर आने के संकेत दिए हैं.

आज (23 जून, गुरुवार) शिवसेना की प्रेस कॉन्फ्रेंस में सांसद संजय राउत ने कहा कि दूर बैठ कर पत्र लिख कर अपनी बात पहुंचाने से अच्छा है कि वे मुंबई आकर सीएम उद्धव ठाकरे से आमने-सामने बात करें. संजय राउत ने दावा किया कि बगावत में उतरे विधायक जब सीएम उद्धव ठाकरे से सामने बैठेंगे तो वे उद्धव ठाकरे के पक्ष में अपना समर्थन देंगे. सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) एक बार फिर वर्षा बंगले में रहने जाएंगे. संजय राउत ने दावा किया कि करीब 21 विधायक उनके संपर्क में हैं.

संजय राउत एक साथ कर रहे हैं दो बात, ऐसा होना संभव नहीं है आज

एक तरफ संजय राउत ने शिंदे समर्थक गुट के विधायकों को मुंबई लौटने का संदेश देते हुए यह कह रहे हैं कि शिवसेना महा विकास आघाड़ी से शिवसेना बाहर आने को तैयार है दूसरी तरफ इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में संजय राउत ने यह भी कहा है कि अविश्वास प्रस्ताव आया तो महा विकास आघाड़ी बहुमत साबित करने में कामयाब होगी.

एक बात तो साफ है. कुछ एक विधायक फिर उधर से इधर हो सकते हैं. लेकिन शिवसेना पूरी तरह से दो भाग में बंट चुकी है. ऐसे में महा विकास आघाड़ी सरकार अल्पमत में आ चुकी है. फिर भी सरकार को बचाने के दो रास्ते खुले हैं. उनमें से एक रास्ता अपनाने की तैयारी के संकेत शिवसेना ने अपनी ओर से दे दिए हैं.

Similar Posts