Maharashtra Crisis: असम में कई अच्छे होटल, कोई भी ठहर सकता है, मुझे नहीं पता महाराष्ट्र के MLA हैं यहां, शरद पवार के बयान पर असम के CM सरमा का पलटवार

Assam Cm Himanta Biswa Sarma, Sharad Pawar

Maharashtra Political Crisis:असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Assam CM Himanta Biswa Sarma) ने एनसीपी चीफ शरद पवार के बयान पर तगड़ा पटलवार किया है. सीएम सरमा ने कहा, ‘असम में कई अच्छे होटल, कोई भी ठहर सकता है. उन्होंने आगे कहा कि मुझे नहीं पता कि महाराष्ट्र (Maharashtra) के विधायक असम में हैं या नहीं. बता दें कि शरद पवार ( Sharad Pawar) ने गुरुवार को बागी विधायकों के मामले में बीजेपी और असम की सरमा सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि सब लोग जानते हैं कैसे बागी विधायकों को पहले गुजरात और फिर असम ले जाया गया. हम उन लोगों का नाम नहीं लेना चाह रहे, जिन्होंने उनकी मदद की. एनसीपी प्रमुख ने कहा कि असम सरकार उनकी मदद कर रही है. मैं आगे किसी का नाम नहीं लेना चाहता.

विधानसभा में होगा MVA सरकार के भाग्य का फैसला

एनसीपी प्रमुख अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी सरकार (MVA) के भाग्य का फैसला विधानसभा में होगा और शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन विश्वास मत में बहुमत साबित करेगा. शिवसेना सरकार के मंत्री एकनाथ शिंदे और शिवसेना के कई विधायकों के विद्रोह के कारण हुई राजनीतिक उथल-पुथल के बीच मीडिया को संबोधित करते हुए पवार ने यह भी कहा कि भाजपा ने उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार के समक्ष उत्पन्न संकट में भूमिका निभाई है. पवार ने कहा, ‘एमवीए सरकार के भाग्य का फैसला विधानसभा में होगा, न कि गुवाहाटी में (जहां विद्रोही डेरा डाले हुए हैं). एमवीए सदन पटल पर अपना बहुमत साबित करेगा.’

बागी विधायकों को मुंबई वापस आना होगा-पवार

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बागी विधायकों को मुंबई वापस आना होगा और विधानसभा का सामना करना होगा. उन्होंने कहा कि गुजरात और असम के भाजपा नेता उनका मार्गदर्शन करने के लिए यहां नहीं आएंगे. पवार ने शिवसेना के बागी विधायकों के आरोपों का भी खंडन किया कि उन्हें अपने निर्वाचन क्षेत्रों के लिए धन प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना इसलिए करना पड़ा, क्योंकि वित्त मंत्रालय NCP के अजीत पवार द्वारा नियंत्रित है और उन्होंने उनके साथ भेदभाव किया है.

विधायक दूसरे राज्यों में चले गए और पुलिस को भनक तक नहीं लगी- अजित पवार

उधर, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार ने कहा है कि शिवसेना के विधायक दूसरे राज्यों में चले गए और पुलिस को भनक तक नहीं लगी. यह पूरी तरह से इंटेलीजेंस की नाकामी है.

Similar Posts