Maharashtra: अनिल देशमुख को नहीं मिली नवाब मलिक की तरह राहत; कोर्ट ने प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की मांग ठुकराई

Anil Deshmukh Nawab Malik

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh NCP) को मुंबई के स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने शुक्रवार (13 मई) झटका दिया है. देशमुख को वो राहत नहीं मिल सकी है जो मुंबई के स्पेशल कोर्ट ने शुक्रवार को ही महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik NCP) को दिया है. देशमुख मंत्री रह चुके हैं, मलिक जेल में रह कर भी मंत्री बने हुए हैं. दोनों का ही इलाज मुंबई के जे.जे.अस्पताल (J.J.Hospital) में चल रहा है. नवाब मलिक की प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की मांग मुंबई के स्पेशल कोर्ट ने स्वीकार कर ली लेकिन मुंबई सेशंस कोर्ट ने अनिल देशमुख को प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की मांग ठुकरा दी. उन्हें जे.जे.अस्पताल में ही कंधे की सर्जरी करवाने का निर्देश दिया है.

100 करोड़ की वसूली और मनी लॉन्ड्रिंग केस में अरेस्ट किए गए अनिल देशमुख ने याचिका दायर कर कोर्ट से घर का खाना और प्राइवेट अस्पताल में सर्जरी करवाने की सुविधा मांगी थी. लेकिन शुक्रवार को सुनवाई करते हुए कोर्ट ने इस मामले में उन्हें कोई राहत नहीं थी. ईडी ने देशमुख की मांग का जोरदार विरोध करते हुए कहा कि जिस तरह की सर्जरी प्राइवेट अस्पताल में देशमुख करवाना चाह रहे हैं, वैसी ही सर्जरी जे.जे.अस्पताल में भी होती है. इसलिए प्राइवेट अस्पताल में सर्जरी करवाने की देशमुख की मांग का कोई मतलब नहीं है.

नवाब के साथ अलग हुआ इंसाफ, होगा प्राइवेट अस्पताल में अपना इलाज

दूसरी तरफ महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक को राहत मिली है. उन्हें स्पेशल कोर्ट ने प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की सुविधा दे दी है. साथ ही उनके साथ परिवार के एक शख्स को भी इलाज के वक्त साथ रहने की इजाजत दी गई है. नवाब मलिक ने कोर्ट से कहा था कि सरकारी अस्पताल में उनका सही इलाज नहीं हो पा रहा है. इसलिए उन्हें प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की सुविधा दी जाए. यहां नवाब मलिक की मांग का ईडी ने भी विरोध नहीं किया. सिर्फ कुछ शर्तें रखीं.

नवाब मलिक को बुखार और डायरिया की वजह से अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. मलिक के खिलाफ पांच हजार पन्नों की चार्जशीट दायर की गई है. फिर भी स्पेशल पीएमएलए कोर्ट ने नवाब मलिक को प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवाने की इजाजत दे दी.

Similar Posts