LIC IPO Updates: यूक्रेन क्राइसिस का असर, आईपीओ का साइज 40 फीसदी घटा सकती है सरकार

LIC IPO updates

देश के सबसे बड़े आईपीओ को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार एलआईसी के आईपीओ (LIC IPO) के आकार को 40 फीसदी घटा सकती है. इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार यूक्रेन क्राइसिस (Russia Ukraine Crisis)को ध्यान में रखते हुए एलआईसी के आईपीओ को 40 फीसदी घटाकर 30 हजार करोड़ रुपए का रख सकती है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि रूस-यूक्रेन क्राइसिस के कारण एलआईसी (Life Insurance Corporation) की वैल्युएशन में भारी गिरावट आई है. आईपीओ के आकार में 40 फीसदी की गिरावट के बावजूद यह भारत के इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ होगा.

रिपोर्ट के मुताबिक लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन का आईपीओ अगले दो सप्ताह में आ सकता है. एलआईसी की वैल्युएशन करीब 6 लाख करोड़ रुपए रखी गई है. ऐसे में सरकार केवल 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी और 30 हजार करोड़ का फंड इकट्ठा करेगी. अप्रैल के शुरुआत में ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट आई थी जिसके मुताबिक, मोदी सरकार एलआईसी में 7 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 50 हजार करोड़ का फंड इकट्ठा करना चाहती है. इन्वेस्टर्स की बेरुखी के कारण अब सरकार 5 फीसदी के करीब हिस्सेदारी बेचने के बारे में विचार कर रही है. वर्तमान में LIC की तरफ से जो DRHP जमा किया गया है उसकी वैलिडिटी 12 मई तक ही है.

यह खबर अभी लिखी जा रही है….

Similar Posts