Kanpur Violence: NIA ने संभाली जांच, पाकिस्तान, ईरान और ओमान से जुड़े हिंसा के तार, व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए रची गई साजिश

Kanpur Clash

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर में पिछले दिनों भड़की हिंसा के मामले की जांच अब नेशनल इंवेस्टिगेटिव एजेंसी (NIA) ने संभाल ली है. इस हिंसा (Kanpur Violence) के तार पड़ोसी देश पाकिस्तान और खाड़ी देश ईरान और ओमान से जुड़ते नज़र आ रहे हैं. जांच के दौरान खुलासा हुआ है कि तमाम व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए कानपुर में हिंसा की साजिश रची गई थी. कहा जा रहा है कि हिंसा के साजिशकर्ताओं ने पाकिस्तान, ईरान और ओमान और पाकिस्तान के लोगों को भी व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए तीन जून को भड़की हिंसा का संदेश भेजा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एनआईए के अधिकारियों ने व्हाट्सएप ग्रुप और इन ग्रुप्स में जुड़े नम्बरों की जानकारी के लिए एंटी टेररिज्म स्क्वाड (एटीएस) से भी मदद मांगी है. जांच के दौरान खुलासा हुआ है कि एक जून को व्हाट्सएप पर एक ग्रुप बनाया गया और बड़ी संख्या में लोगों को उन ग्रुप्स में जुड़ने के लिए इनवाईट भेजा गया. इसके बाद इन ग्रुप्त में पाकिस्तान, ईरान और ओमान से लोग जुड़े. ज्वाइंट सीपी आनंद प्रकाश तिवारी ने कहा कि अब जांच कराई जा रही है कि हिंसा के दौरान साजिशकर्ता इंटरनेट कॉलिंग के जरिए ग्रुप से जुड़े हुए थे या नहीं.

तीन जून को जुमे की नमाज के बाद भड़की थी हिंसा

बता दें कि यूपी पुलिस ने पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी के दो पूर्व पदाधिकारियों नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक करीब 20 एफआईआर दर्ज की हैं और 415 आरोपियों से ज्यादा को गिरफ्तार किया है.पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के विरोध में सबसे पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में तीन जून को जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन की शुरुआत हुई थी और इसके बाद अगले हफ़्ते 10 जून को जुमे की नमाज के बाद राज्य के नौ जिलों में प्रदर्शन के मामले सामने आए.

हिंसा करने वाले लोगों की धरपकड़ जारी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हिंसा की इन घटनाओं का संज्ञान लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया था कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रखी जाए. इसके बाद से हिंसा करने वाले लोगों की धरपकड़ जारी है. प्रशासन ने कानपुर में हिंसा के कई आरोपियों के घर पर बुलडोजर से भी कार्रवाई की थी.

Similar Posts