Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा भड़कने के बाद पूर्व IPS किरण बेदी ने दिए दंगे रोकने के ये 7 सुझाव, जानें महिलाओं की भूमिका पर क्या कहा

Kiran Bedi

दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा (Jahangirpuri Violence) मामले में पूर्व आईपीएस और पुडुचेरी की पूर्व एलजी किरण बेदी (Kiran Bedi) ने दंगे (Riots) रोकने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं. शनिवार को हनुमान जयंती पर निकाली गई शोभायात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच झड़प हुई थी, जिसमें आठ पुलिस कर्मी और एक स्थानीय निवासी घायल हो गये. पुलिस के अनुसार, झड़पों के दौरान पथराव और आगजनी हुई और कुछ वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया. मामले में जांच जारी है. इस बीच किरण बेदी ने ट्वीट करते हुए कुछ सुझाव (Suggestions to stop Riots) दिए हैं. दंगे कैसे रोके जाएं, क्या कदम उठाने चाहिए, इसको लेकर सुझाव दिए गए हैं.

  1. किरण बेदी के मुताबिक, किसी भी संकरे और संवेदनशील इलाके में जुलूस निकालने और अनुमति देने से पहले ‘क्या करें और क्या न करें’, इसका सख्त पालन होना चाहिए. ताकि सुरक्षित रखने और शांति बनाए रखने के लिए क्षेत्रों के लोगों को भी जिम्मेदार बनाया जा सके.
  2. ‘जुलूस में क्षेत्र के बाजार संघ या महिला कमेटियों समेत सम्माननीय लोगों को अभिभावक के तौर पर काम करने के लिए प्रेरित किया जाए. महिलाएं भी शांति सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभा सकती हैं.’
  3. इन क्षेत्रों में रहने वाले जिन लोगों ने पहले अपराध किया है, उनपर नजर रखी जाए और कानून के तहत कड़ी जांच के तहत लाया जाए. शांति बनाए रखने के लिए ऐसे व्यक्तियों से पीस बॉन्ड भराया जाए.
  4. ‘छतों की तलाशी की जाए, ताकि ज्वलनशील सामग्री या ईंट-पत्थर न मिले. नगर निकाय से सफाई करवाई जाए.’
  5. ‘इन इलाकों में किसी भी व्यक्ति पर अगर लाइसेंस वाले हथियार हैं, तो वे जमा करवाए जाएं.’
  6. ‘व्यवस्थित पुलिस व्यवस्था की जाए. महिला पीस कमेटी द्वारा महिलाओं को शामिल किया जाए. इसके अलावा जुलूस से पहले पुलिस स्थानीय लोगों के साथ बैठक करे.’
  7. ‘सर्वे कराया जाए कि सभी सीसीटीवी कैमरे काम कर रहे हैं या नहीं इसके अलावा संबंधित लोगों को लिखित कानूनी निर्देश दिया जाए कि वे रिकॉर्डिंग बनाए रखें, खुफिया इनपुट के आधार पर उनका इस्तेमाल किया जा सके.’

Similar Posts