JAC 10th Result 2022: रांची हिंसा में मारा गया युवक झारखंड बोर्ड 10वीं में फर्स्ट डिवीजन पास, मिले 66% अंक

Mudassir Result

Jharkhand Board Result 2022: झारखंड बोर्ड 10वीं और 12वीं साइंस का रिजल्ट मंगलवार को जारी हुआ. रिजल्ट जारी होने के बाद 10वीं में कुल 95.60% छात्र पास हुए. इसमें सबसे अव्वल झारखंड का कोडरमा जिला रहा है. वहीं जैक बोर्ड हाईस्कूल के रिजल्ट (Jharkhand Board Result 2022) के बाद रांची से एक मामला सामने आया है जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है. रांची हिंसा में रांची में 10 जून को हुई हिंसा में मारे गए मुदस्सिर आलम को 10वीं बोर्ड की परीक्षा में 500 में से 333 अंक मिले हैं. आलम को अंग्रेजी में 71, हिंदी में 64, उर्दू में 70, विज्ञान में 60, सामाजिक अध्ययन में 68 और गणित में 53 अंक मिले हैं.

रांची के हिंदपीढ़ी इलाके में डेली मार्केट के नजदीक रहने वाली मुदस्सिर की जान रांची हिंसा में गई थी. बता दें कि, पैगंबर मोहम्मद (Prophet Muhammad) के बारे में भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नुपुर (Nupur Sharma) शर्मा की कथित भड़काऊ टिप्पणी के खिलाफ रांची में हिंसा हुई थी. मुदस्सिर आलम अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था.

बेटे का रिजल्ट देख रो पड़ी मां

झारखंड बोर्ड 10वीं का रिजल्ट आने के बाद परीक्षार्थियों के घरों में खुशी का माहौल होता है, वहीं रांची के मुदस्सिर आलम के घर में शोक की लहर दौड़ गई. मृत बेटे का रिजल्ट देख मुदस्सिर की मां निकहत परवीन फूट-फूटकर रो पड़ीं. परवीन ने बताया कि मेरा बेटा प्रथम श्रेणी में पास हुआ, लेकिन वो मारा गया. आलम के चाचा शाहिद अयूबी ने कहा कि वो पढ़ाई में अच्छा था. अयूबी ने कहा कि हम उसके लिए बेहतर भविष्य की उम्मीद कर रहे थे. वो परिवार का इकलौता बेटा था.

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) द्वारा घोषित नतीजों के मुताबिक, आलम रांची के पुंदाग में लिटिल एंजल्स हाई स्कूल चारघरवा का छात्र था. उसने 500 में से 333 अंक हासिल किए है. आलम को अंग्रेज़ी में 71, हिंदी में 64, उर्दू में 70, विज्ञान में 60, सामाजिक अध्ययन में 68 और गणित में 53 अंक मिले हैं.

इस साल 60.4 फीसदी छात्र फर्स्ट डिवीजन पास

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने झारखंड एकेडमिक काउंसिल के कार्यालय से 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. रिजल्ट के साथ बोर्ड की ओर से टॉपर्स की लिस्ट भी जारी हुई है. कक्षा 10वीं में इस साल कुल 3,91,100 छात्र शामिल हुए थे. इसमें से 2,25,852 छात्र फर्स्ट डिवीजन पास हुए हैं.

Similar Posts