IPL 2022: जिस जगह पर होना चाहिए था विराट कोहली या रोहित शर्मा का नाम वहां कोई और ही कर रहा है काम

Virat Kohli Rohit Sharma Ipl 2022

भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए आईपीएल (IPL 2022) अपनी देसी लीग है. इस लीग से उनका बड़ा लगाव है. ये अलग बात है कि लीग का मूलमंत्र है- बाप बड़ा न भैया, सबसे बड़ा रूपैया या पैसा फेंक तमाशा देख. लेकिन इस मूलमंत्र को नजरअंदाज कर हिंदुस्तानी फैंस आईपीएल को दिल में बसाए हैं. वो हर शाम टीवी के सामने चिपक कर बैठते हैं. तालियां बजाते हैं. अपनी टीम, अपने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाते हैं. उन्हें दर्द बस तभी होता है जब उनके अपने देसी खिलाड़ियों की बजाए विदेशी खिलाड़ी (Indian Premier League) ज्यादा चमक बिखेर रहे होते हैं. इस सीजन में अब तक ऐसा ही हो रहा है. जिस लिस्ट में सबसे ऊपर विराट कोहली (Virat Kohli), रोहित शर्मा या शिखर धवन का नाम होना चाहिए था वहां विदेशी खिलाड़ियों का दबदबा है.

भारतीय क्रिकेट के सबसे दिग्गज नाम विदेशी खिलाड़ियों की चमक के आगे फीके पड़ गए हैं. ताजा बहस इस बात को लेकर है कि लीग में नंबर वन ओपनर बल्लेबाज कौन है? भारतीय फैंस के चेहरे इसलिए मायूस हैं क्योंकि इस बहस में भारतीय नाम शुमार ही नहीं है. कोई भी रोहित शर्मा, ईशान किशन या शिखर धवन का नाम नहीं ले रहा है. बल्कि नाम चल रहा है फाफ ड्यूप्लेसी और जोस बटलर का. आंकड़े भी विदेशी खिलाड़ियों के साथ ही हैं.

सबसे बेहतरीन ओपनर कौन है?

फिलहाल तो इस बहस में कोई भारतीय नाम शुमार नहीं है. इंग्लैंड के जोस बटलर और दक्षिण अफ्रीका के फाफ ड्यूप्लेसी रेस में सबसे आगे चल रहे हैं. आकड़े जान लीजिए. जोस बटलर कमाल की फॉर्म में हैं. इस सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में वो पहले नंबर पर हैं. ऑरेंज कैप पर उनका कब्जा है. अब तक 6 मैच में उन्होंने 75 की औसत से 375 रन बनाए हैं. उनकी स्ट्राइक रेट 156.90 की है. फाफ ड्यूप्लेसी ने भी सबको प्रभावित किया है. उनके खाते में 7 मैच में 250 रन हैं. उनकी औसत 35.71 की है और स्ट्राइक रेट-132.27. सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में वो तीसरे नंबर पर हैं. इस लिस्ट में पहले दस पायदान पर कोई भी नियमित भारतीय ओपनर नहीं है. पृथ्वी साव नौवें नंबर पर हैं लेकिन वो टीम इंडिया में नियमित ओपनर की अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए हैं. नियमित ओपनर्स में शिखर धवन ही हैं जिन्होंने 200 के पार रन बनाए हैं और 11वें नंबर पर हैं.

बटलर और ड्यूप्लेसी की रणनीति क्या है?

इस सीजन में जोस बटलर और फाफ ड्यूप्लेसी की रणनीति बहुत साफ है. उन्होंने मुंबई की पिचों को बेहतर तरीके से भांप लिया है. उन्हें समझ आ गया है कि लगातार मैच होने की वजह से इन पिचों को दुरूस्त रखना बड़ी चुनौती है. पिच ‘स्लो’ होती जाएगी. इसीलिए ये दोनों ही बल्लेबाज क्रिकेट की रूल बुक के हिसाब से वी (V) में बल्लेबाजी कर रहे हैं. दोनों ही सीधे बल्ले से रन बटोरने की कोशिश कर रहे हैं. रन बनाने के लिए जोस बटलर का मजबूत एरिया लॉन्ग ऑन और मिड विकेट के बीच में है. ड्यूप्लेसी ने एक्सट्रा कवर और लॉन्ग ऑफ के एरिया में ज्यादा शॉट्स लगाए हैं. इन दोनों खिलाड़ियों की शानदार बल्लेबाजी का ही नतीजा है कि प्वाइंट टेबल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर दूसरे और राजस्थान रॉयल्स तीसरे नंबर पर है.

भारतीय सितारे फिलहाल रेस में नहीं हैं

भारतीय फैंस इसीलिए मायूस हैं कि लीग इंडियन है और स्टार विदेशी खिलाड़ी हैं. अभी तक इस सीजन में भारतीय टीम के नियमित सलामी बल्लेबाज बेरंग दिखाई दिए हैं. रोहित शर्मा जैसा स्टार खिलाड़ी बुरी तरह से रनों के लिए जूझ रहा है. अब तक खेले गए 6 मैच में उन्होंने सिर्फ 114 रन बनाए हैं. उनकी औसत सिर्फ 19 रन की है. इस सीजन में सबसे महंगे खिलाडी ईशान किशन भी 200 रन का आंकड़ा पार नहीं कर पाए हैं. उन्होंने 6 मैच में 191 रन बनाए हैं. उनकी औसत तो 38.20 की है लेकिन स्ट्राइक रेट सिर्फ 117.17 का, ईशान का ये स्ट्राइक बहुत ही सामान्य है. संजू सैमसन की फॉर्म भी सामान्य ही है. राजस्थान रॉयल्स के लिए उन्होंने 6 मैच में 25.83 की औसत से 155 रन ही बनाए हैं. आईपीएल का ये सीजन लगभग अपना आधा सफर तय कर चुका है. भारतीय क्रिकेट फैंस की शिकायत दूर करने की जिम्मेदारी भारतीय स्टार खिलाड़ियों पर ही है. बस उन्हें अपनी ये जिम्मेदारी समझ आ जाए.

Similar Posts