IPL 2022: इधर कायरन पोलार्ड ने संन्यास लिया, उधर मुंबई इंडियंस में उनकी जगह पर उठने लगे सवाल

Kieron Pollard Ipl 2022

मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) आईपीएल 2022 में अभी तक अपना खाता भी नहीं खोल सकी है, जबकि टीम ने 6 मैच खेल लिए हैं. ये आईपीएल के इतिहास में पहली ही बार है, जब मुंबई की टीम पहले 6 मैच ही हार गई. टीम की इस हार की कई वजहें हैं, जिनमें कमजोर गेंदबाजी सबसे बड़ी परेशानी है. इस परेशानी को और बढ़ाया है कायरन पोलार्ड (Kieron Pollard) जैसे दिग्गज ऑलराउंडर की फॉर्म ने, जो इस सीजन में बल्ले से कोई खास कमाल नहीं कर सके हैं. पोलार्ड ने एक दिन पहले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया था और अब आईपीएल 2022 (IPL 2022) में उनके प्रदर्शन के बाद मुंबई इंडियंस में भी उनकी जगह पर सवाल उठने लगे हैं.

पिछले करीब 12 साल से मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे वेस्टइंडीज के इस सुपरस्टार ऑलराउंडर ने इस सीजन में अभी तक एक भी बड़ी या मैच जिताऊ पारी नहीं खेली है. मुंबई को पांच बार आईपीएल चैंपियन बनाने में पोलार्ड ने हमेशा दमदार भूमिका निभाई है. फिर चाहे बात विस्फोटक बल्लेबाजी की हो या फिर सटीक गेंदबाजी की, पोलार्ड ने हर बार मुश्किल हालात में मुंबई को संभाला है, लेकिन फिलहाल हालात अच्छे नहीं चल रहे हैं और यही कारण है कि मांग होने लगी है कि या तो वह प्रदर्शन करें, या मुंबई को उनसे आगे देखना चाहिए.

गेंदबाजी में योगदान जरूरी

पोलार्ड को लेकर ये मांग कर रहे हैं पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर. पूर्व भारतीय बल्लेबाज का मानना है कि पोलार्ड बल्ले से तो कोई योगदान नहीं दे रहे हैं, साथ ही गेंद से भी उनका योगदान नाममात्र है, जो पहले से ही कमजोर गेंदबाजी आक्रमण को कोई सहयोग नहीं दे पा रहा है. ईएसपीएन-क्रिकइंफो के कार्यक्रम में चर्चा के दौरान मांजरेकर ने कहा,

मैं नहीं जानता कि मुंबई ने कभी पोलार्ड को बाहर करने लायक समझा है. लेकिन मुझे लगता है कि पोलार्ड को कम से कम तीन ओवर गेंदबाजी तो करनी ही चाहिए क्योंकि टीम को गेंदबाजों की बहुत ज्यादा जरूरत है. मेरे ख्याल से दबाव में वह इस टीम के कई गेदंबाजों से ज्यादा बेहतर हैं. अगर वह गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं और सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर ही रहेंगे, तो मुझे लगता है कि मुंबई को उनके स्कोर पर नजर डालनी चाहिए.

IPL 2022 में अभी तक पोलार्ड का प्रदर्शन

इस सीजन में अभी तक पोलार्ड ने 6 पारियों में सिर्फ 82 रन बनाए हैं, जिसमें सबसे बड़ा स्कोर 25 रन है और स्ट्राइक रेट सिर्फ 134 का है. वहीं जहां तक गेंदबाजी की बात है, तो इसमें भी वह खास नहीं है और सिर्फ 7 ओवरों की गेंदबाजी कर सके हैं. इसमें उन्हें 1 विकेट मिला है और 10 की औसत से रन खर्चे हैं. यानी प्रदर्शन तो वाकई चिंताजनक है, लेकिन फिलहाल पूरी टीम इस दौर से गुजर रही है और पोलार्ड के योगदान को देखते हुए उन्हें इस फॉर्म के बावजूद टीम से बाहर करने की उम्मीद नहीं है.

Similar Posts