International Yoga Day: एलजीबीटी समुदाय के 12 सदस्यों ने मैसूर में PM मोदी के साथ किया योग, बोले- यह सम्मान पाकर बहुत खुश हूं

Lgbt Community

International Yoga Day: आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर पहली बार एलजीबीटी समुदाय के लोगों ने मैसूर महल के बाहर आयोजित योग समारोह में भाग लिया. एलजीबीटी समुदाय के 12 सदस्यों ने मैसूर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ योग किया. मैसूर में आयोजित योग दिवस समारोह कई मायनों में खास था. इस समारोह का सबसे बड़ा आकर्षण ट्रांसजेंडर समुदाय के सदस्यों और विशेष रूप से विकलांग व्यक्तियों की भागीदारी थी, जिन्हें प्रधानमंत्री के साथ योग करने का मौका मिला. एलजीबीटी समुदाय के एक सदस्य प्रणति प्रकाश ने बताया कि वह पीएम मोदी के साथ योग करने का अवसर पाकर बेहद खुश थीं. प्रणति ने टीवी9 कन्नड़ को बताया, ‘हम में से 12 सदस्यों ने योग दिवस समारोह में भाग लिया. हम खुश हैं.’

मैसूर के सत्तारूढ़ दल के विधायक एसए रामदास के मन में यह विचार आया कि एलजीबीटी समुदाय के लोगों को योग समारोह में आमंत्रित किया जाए. इसके बाद जिला प्रशासन ने एलजीबीटी समुदाय के लिए दो सप्ताह के लिए योग पूर्व प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया. दरअसल, पहले 20 लोगों का चयन किया गया. इसके बाद फिर पीएम मोदी के साथ योग करने के लिए 12 सदस्यों को शॉर्टलिस्ट किया गया. बता दें कि रामदास एक एनजीओ से भी जुड़े हैं.

‘हमने अपने जीवन में कभी भी योग का अभ्यास नहीं किया’

प्रणति ने कहा, ‘हमने अपने जीवन में कभी भी योग का अभ्यास नहीं किया. डीएचओ कार्यालय ने एक प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया और हमें दो सप्ताह तक योग की मूल बातें सिखाई गईं. उन्होंने हमें प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए पास मुहैया करने में मदद की. वहीं, कार्यक्रम में भाग लेने वाली एक अन्य ट्रांसजेंडर निशा ने कहा, यह हमारे लिए एक अलग दिन है. कोरोना महामारी के दौरान, हमें वित्तीय संकट का सामना करना पड़ा. उस समय, हमें पीएम मोदी की मुफ्त राशन योजना के माध्यम से राशन प्रदान किया गया था. हमने मुफ्त में वैक्सीन पाकर कोरोना को हराया है. हम इस कार्यक्रम में आमंत्रित होने पर सम्मानित महसूस करते हैं.

‘हमने हर रोज योग करने का फैसला किया है’

योग दिवस समारोह में भाग लेने के एक दिन बाद, प्रणति और उनके दोस्त गंभीरता से योग करना चाहते हैं. प्रणति ने कहा, ‘हम हार नहीं मानना ​​चाहते. हमने हर रोज योग करने का फैसला किया है. इसलिए, हम इसे आगे बढ़ाएंगे.’ गौरतलब है कि मैसूर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह में ट्रांसजेंडरों के अलावा, 200 विशेष रूप से विकलांग और 100 अनाथ बच्चों ने भी भाग लिया. मैसूर पैलेस ग्राउंड में प्रधानमंत्री के साथ 15,000 से अधिक लोगों ने योग किया.

Similar Posts