IND vs SA: ‘धीमा जहर’, बल्लेबाजों पर कहर, मजदूर के बेटे ने देश को जिताया, विरोधी को घुटनों पर बैठाया

IND vs SA: Harshal Patel, son of labour, shine with ball took 4 wicket in Vizag T20 against South Africa

आपने मीठा जहर तो सुना होगा. लेकिन क्या कभी धीमे जहर के बारे में सुना है. अगर नहीं सुना तो जान लीजिए. ये भी मीठे जहर से कम घातक नहीं है. अगर असर कर जाए तो एक बार में कम से कम 11 लोगों के विकेट उखाड़ सकता है. टीम इंडिया में भी ऐसा ही एक धीमा जहर है, जिसने 14 जून की शाम वाइजैग की पिच पर अपना असर छोड़ा है. हम बात कर रहे हैं स्लो गेंदों का चतुराई से इस्तेमाल करने वाले भारतीय गेंदबाज हर्षल पटेल (Harshal Patel) की. देश की तरक्की में मजदूरों का हाथ होने की बात की जाती रही है. हर्षल पटेल भी एक मजदूर के बेटे हैं, और अपनी धीमी गेंदों का जाल बुनकर उन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ वाइजैग टी20 में जो भारतीय क्रिकेट की लाज बचाई है, वो भी कुछ कम नहीं है.

Similar Posts