Himachal Pradesh: महिलाओं को HRTC बसों में 50 फीसदी छूट देने के फैसले से निजी बस आपरेटर नाराज, किया कोर्ट जाने का फैसला

Hrtc Bus

हिमाचल प्रदेश के 75वें स्थापना दिवस के अवसर पर सीएम जयराम ठाकुर (Himachal Pradesh CM Jairam Thakur) ने एचआरटीसी की बसों में महिलाओं को 50 फीसदी छूट देने की घोषणा की थी (Discountin fare for women). इस फैसले को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद हाल में इस संबंध में फैसले को अनुमति प्रदान की गई है. और मंगलवार को एचआरटीसी (HRTC Buses) की ओर से महिलाओं को बस किराए में 50 फीसदी छूट की अधिसूचना जारी कर दी गई. इसके बाद से हिमाचल प्रदेश निजी बस आपरेटर संघ नाराज है. और संघ ने सरकार के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर करने का फैसला लिया है.

हिमाचल प्रदेश के निजी बस आपरेटर संघ के प्रदेश महासचिव रमेश कमल का कहना है कि दो दिनों के भीतर संघ कोर्ट में सरकार के खिलाफ याचिका दायर करेगा. संघ ने साथ ही कहा कि में 50 फीसदी की छूट देकर सरकार ने कोर्ट नियमों की अवमानना की है. संघ का कहना है कि इससे निजी बस आपरेटरों व एचआरटीसी के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी. दरअसल सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार एचआरटीसी द्वारा सरकार द्वारा निर्धारित किराए से कम किराया नहीं लिया जा सकता. सरकार ने 2.19 प्रति किलोमीटर के हिसाब से किराया निर्धारित किया है, लेकिन सरकार द्वारा महिलाओं को एचआरटीसी की बसों में 50 फीसदी छूट देने की अधिसूचना जारी कर दी गई है.

3500 बसों के आपरेटर, ड्राइवर और कंडक्टर की रोजी-रोटी पर संकट

इधर निजी बस आपरेटर संघ के प्रदेशाध्यक्ष राजेश पराशर का कहना है कि 50 फीसदी किराए की शर्त लागू होने के बाद राज्य की 3500 बसों के आपरेटर, ड्राइवर व कंडक्टर की रोजी-रोटी पर संकट आ जाएगा. छूट की वजह से सवारियां सरकारी बसों में जाएंगी, तो निजी बसें खाली रह जाएंगी. दरअसल हिमाचल दिवस पर चंबा में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने महिलाओं को बस किराए में 50 प्रतिशत छूट देने की घोषणा की थी. इसके बाद कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद हाल ही में धर्मशाला में हुई बीओडी की बैठक में इस फैसले को अनुमति प्रदान की गई है. जिसके बाद मंगलवार को एचआरटीसी की ओर से महिलाओं को बस किराए में 50 फीसदी छूट की अधिसूचना जारी कर दी गई. जिससे संघ नाराज है और अब कोर्ट का रुख करने का फैसला किया है.

Similar Posts