DRDO और भारतीय नौसेना ने सफलतापूर्वक किया VL-SRSAM मिसाइल का परीक्षण, हवाई खतरों को बेअसर करने में सक्षम

Vl Srsam Missile

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय नौसेना ने शुक्रवार को वीएल-एसआरएसएएम मिसाइल (वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. ये लॉन्च (VL-SRSAM Missile Testing) भारतीय नौसेना के जहाज से ओडिशा (Odisha) के चांदीपुर के तट पर किया गया है. ये जानकारी डीआरडीओ के अधिकारियों ने दी है. वीएल-एसआरएसएएम एक जहाज से चलने वाली हथियार प्रणाली है, जो समुद्री खतरे के साथ-साथ हवाई खतरे को भी बेअसर कर सकती है. इस मिसाइल की मदद से समुद्र में दुश्मन को नेस्तनाबूत तो किया ही जा सकता है.

इसके अलावा नजदीकी सीमाओं पर भी हवाई खतरों को लक्षित कर सकती है. डीआरडीओ के अधिकारियों का कहना है कि इस प्राणाली का आज का लॉन्च एक उच्च गति वाले नकली हवाई लक्ष्य को निशाना बनाने के लिए किया गया. जिसे निशाना बनाने में इसे सफलता मिली है. अधिकारियों ने आगे कहा कि चांदीपुर के आईटीआर में तैनात कई ट्रैकिंग उपकरणों का इस्तेमाल करते हुए स्वास्थ्य मापदंडों को ध्यान में रखते हुए वाहन के उड़ान पथ की निगरानी की गई है. इस लॉन्च की निगरानी का काम डीआरडीओ और भारतीय नौसेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने किया है.

Similar Posts