Delhi Corona: दिल्ली में इस महीने कोरोना के 17 हजार से ज्यादा केस आ चुके, पॉजिटिविटी रेट में आई कमी

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के नए मामलों (Corona Cases In Delhi) में उतार-चढ़ाव जारी है. पिछले 24 घंटे में 928 मामले दर्ज किए गए हैं, जो एक दिन पहले की तुलना में कम है. राजधानी में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट (Corona Positivity rate in delhi)भी 10 प्रतिशत से घटकर 7.08 फीसदी रह गया है. साथ ही एक्टिव मामलों में भी कमी दर्ज की गई है. दिल्ली में इस महीने में अब तक कोरोना के 17 हजार से ज्यादा केस आ चुके हैं. जो मार्च के बाद सबसे ज्यादा है, इससे हॉस्पिटलाइजेशन में भी इजाफा हुआ है और फिलहाल 200 से ज्यादा मरीज अस्पातलों में भर्ती हैं, हालांकि राहत की बात यह है कि अधिकतर संक्रमितों में कोरोना के लक्षण हल्के ही हैं.

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राजधानी में इससे पहले रोजाना एक हजार से ज्यादा केस आ रहे थे. जिसमें कमी दर्ज की गई है. इसके साथ ही रिकवरी रेट भी करीब 98 प्रतिशत हो गया है. एक्सपर्ट का कहना है कि दिल्ली में जल्द ही कोरोना का पीक आ सकता है. कोविड एक्सपर्ट डॉ. अंशुमान ने कहा कि दिल्ली में अभी कोरोना के मामलों में इजाफा जारी रहेगा, लेकिन संक्रमितों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं बढेंगी. एक्टिव मामले 10 हजार से कम रहने की उम्मीद है. फिलहाल ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट्स (Omicron Sub Variant) की वजह से केस बढ़ रहे हैं, लेकिन ओमिक्रॉन का कोई भी सब वेरिएंट घातक नहीं है. इनसे संक्रमण की रफ्तार भी वैसी नहीं है जो दूसरी लहर के दौरान देखा गया था.

दिल्ली के लोकनायक हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. सुरेश कुमार के मुताबिक, अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों में अधिकतर वह हैं जो दूसरी बीमारी से पीड़ित है और कोरोना संक्रमित हो गए हैं. किसी भी मरीज में गंभीर लक्षण नहीं देखे गए हैं, लेकिन लोगों से अपील है कि वो कोरोना को लेकर लापरवाही न बरतें

चौथी लहर की आशंका नहीं

डॉ. अंशुमान का कहना है कि राजधानी में हर कुछ महीने में कोरोना के केस बढ़ेंगे, लेकिन इनकी रफ्तार ऐसी नहीं होगी, जिससे खतरा हो. डॉ. ने कहा कि अभी कोरोना का कोई नया वेरिएंट नहीं है. पुराने वेरिएंट से ही संक्रमण हो रहा है. इसलिए केस थोड़े बहुत बढ़ रहे हैं. लेकिन हर महीने या दो महीने में कोरोना के मामले बढ़ने से लोगों में इस वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी बन रही है जो एक नेचुरल वैक्सीन की तरह काम कर रही है. ऐसे में फिलहाल दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर आने की आशंका नहीं है.

Similar Posts