Delhi: महंगा होगा ऑटो-टैक्सियों का सफर! किराए में संशोधन के लिए दिल्ली सरकार ने गठित की कमेटी

Cm Kejriwal

दिल्ली (Delhi) में जल्द ही ऑटो रिक्शा और टैक्सियों में सफर करना महंगा (Taxi Price Hike) हो सकता है. केजरीवाल सरकार ने बुधवार को ऑटो रिक्शा और टैक्सियों के किराया संशोधन के लिए एक कमेटी का गठन किया है. पिछले कुछ महीनों में देशभर में ईंधन और CNG की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हुई है, इस वजह से इन वाहनों चालकों और मालिकों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने ऑटो रिक्शा और टैक्सी चालकों के हितों को ध्यान में रखते हुए किराया संशोधन कमेटी गठित करने का फैसला किया है, यह कमेटी 30 दिन में सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी.

CNG की कीमतों में 2.5 रुपये प्रति किलोग्राम की ताजा बढ़ोतरी के साथ ऑटो, टैक्सी और कैब चालक सोमवार को हड़ताल पर चले गए थे. सरकार को ऑटो और टैक्सी यूनियनों से कई तरह के आवेदन भी मिले थे, जिसमें CNG पर किराया और सब्सिडी बढ़ाने जैसी कई मांगें रखी गई थीं. इस मसले पर दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने मंगलवार को कई ऑटो और टैक्सी यूनियनों के साथ एक बैठक भी की थी. सभी से परामर्श के बाद किराया संशोधन समिति का गठन बुधवार को मोटर वाहन अधिनियम, 1988 की धारा 67 (1) के तहत अधिसूचित किया गया.

बढ़ सकता है ऑटो-टैक्सी का किराया

किराया संशोधन समिति की अध्यक्षता विशेष आयुक्त (STA) करेंगे और इसमें डीसी (वाहन निरीक्षण इकाई / ऑटो रिक्शा इकाई / टैक्सी इकाई), उपायुक्त और लेखा उप नियंत्रक के साथ 2 नामित जिला परिवहन अधिकारी (DTO) और एक तकनीकी विशेषज्ञ शामिल हैं. इसके अलावा, रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों, यात्रियों और छात्रों के प्रतिनिधि भी समिति का हिस्सा हैं. दिल्ली सरकार ने पहले भी 12 जून 2019 को एक समान किराया संशोधन समिति के गठन के माध्यम से ऑटो-रिक्शा द्वारा वसूले जाने वाले किराए में संशोधन के लिए एक अधिसूचना जारी की थी.

CNG की कीमतों में तीसरी बार बढ़ोतरी

इस महीने CNG की कीमतों में तीसरी बार बढ़ोतरी हुई है. दिल्ली में अभी CNG की कीमत 71.61 रुपये प्रति किलो है. दिल्ली में फिलहाल नए पंजीकृत ई-ऑटो समेत करीब 97,000 ऑटो हैं, जिनमे 12,000 काली-पीली (पीली-काली) टैक्सियां और 50,000 इकोनॉमी रेडियो टैक्सियां शामिल हैं . इन सभी श्रेणियों को संशोधित किराए से लाभ होने की उम्मीद है. परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि ईंधन की बढ़ती कीमतों से प्रभावित वाहन चालकों और मालिकों की स्थिति को दिल्ली सरकार भली-भांति समझ रही है.

ड्राइवरों से काम पर लौटने की अपील

उन्होंने पिछले 2 दिनों में कई ऑटो और टैक्सी यूनियनों से भी मुलाकात कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की है. परिवहन मंत्री ने कहा कि किराया पुनरीक्षण समिति का गठन कर जल्द रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए गए हैं. उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि सरकार ऐसा समाधान लेकर आएंगी, जो ड्राइवरों/मालिकों और यात्रियों के लिए समान रूप से अनुकूल हो. इस बीच, जो टैक्सी मालिक या ड्राइवर अभी भी हड़ताल पर हैं, उनसे अपील करते हुए कैलाश गहलोत ने कहा कि वह वापस काम पर लौट जाएं, जिससे दिल्ली की जनता को असुविधा न हो.

Similar Posts