Cryptocurrency Prices: बिटकॉइन की कीमतों में तेजी, Ethereum में थोड़ी गिरावट

Cryptocurrency Prices today bitcoin rate increase Ethereum fell

ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) शुक्रवार को फ्लैट रही हैं. ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप (Crypto Market) पिछले 24 घंटों के दौरान 3.70 फीसदी बढ़कर 933.84 अरब डॉलर हो गया है. वहीं, कुल क्रिप्टो मार्केट वॉल्यूम इसी अवधि के दौरान 9.04 फीसदी की गिरावट के साथ 60.76 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) में कुल वॉल्यूम 5.39 अरब डॉलर पर मौजूद है, जो कुल क्रिप्टो मार्केट के 24 घंटों के वॉल्यूम का 9.21 फीसदी है. उधर, सभी स्टेबलकॉइन्स (Stablecoins) का वॉल्यूम 52.48 अरब डॉलर रहा है, जो क्रिप्टो मार्केट के 24 घंटे के वॉल्यूम का 86.38 फीसदी है. बिटकॉइन(Bitcoin) की कीमतें पिछले 24 घंटों के दौरान 3.12 फीसदी की तेजी के साथ 16,44,993 रुपये पर पहुंच गईं हैं.

मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की बाजार में मौजूदगी 42.99 फीसदी है. इसमें पिछले दिन के दौरान 0.20 फीसदी की गिरावट आई है.

Tether में आई गिरावट

वहीं, Ethereum पिछले 24 घंटों में 0.78 फीसदी गिरकर 90.4 रुपये पर आ गई है. जबकि, Tether 0.45 फीसदी की गिरावट के साथ 82.42 रुपये पर मौजूद है. Cardano 4.72 फीसदी के उछाल के साथ 40.90 रुपये पर पहुंच गया है.

उधर, Binance Coin 5.74 फीसदी के उछाल के साथ 19149 रुपये पर पहुंच गया है. XRP की बात करें, तो इस क्रिप्टोकरेंसी में पिछले 24 घंटों के दौरान 10 फीसदी की तेजी देखी गई है. यह क्रिप्टोकरेंसी मौजूदा समय में 29.9972 रुपये पर ट्रेड कर रही है.

वहीं, Polkadot की कीमतें पिछले 24 घंटों में 5.69 फीसदी की तेजी के साथ 661.68 रुपये पर पहुंच गईं हैं. जबकि, Dogecoin 4.17 फीसदी के उछाल के साथ 5.4485 रुपये पर मौजूद है.

डिजिटल करेंसी कैश की ले सकती है जगह: RBI डिप्टी गवर्नर

आपको बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक यानी RBI के डिप्टी गवर्नर टी रबी शंकर ने कुछ दिन पहले एक वेबिनार में कहा था कि सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) भारत में कैश पर आधारित ट्रांजैक्शन्स की कुछ हद तक जगह ले सकती है. शंकर ने कहा था कि पिछले पांच सालों में, जहां डिजिटल भुगतान भारत में करीब 50 फीसदी की औसत सालाना ग्रोथ रेट से बढ़ा है. वहीं, करेंसी की सप्लाई करीब दोगुनी हो गई है.

इसके अलावा सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी और रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने के लिए लिस्ट किया था. इसे पहले बजट सत्र के लिए भी लिस्ट किया गया था, लेकिन इसे पेश नहीं किया जा सका था, क्योंकि सरकार ने इस पर दोबारा काम करने का फैसला लिया था.

Similar Posts