Corona: दिल्ली में ओमिक्रॉन के दो नए सब वेरिएंट ने दी दस्तक, बढ़ने लगे हैं कोरोना के केस

Corona

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में एक बार फिर से कोरोना (Corona) के मामले बढ़ने लगे हैं. पिछले महीने ही दिल्ली में कोरोना के नए केसज में काफी आई थी, लेकिन अब महीने भर के भीतर फिर से मामलों में इजाफा होने लगा है. राजधानी में पिछले 24 घंटों में 1118 नए केस आए हैं. पॉजिटिविटी रेट (Corona Positivity rate) 6 प्रतिशत से अधिक हो गई है. एक्टिव मरीजों की संख्या भी तीन हजार से अधिक हो गई है. दिल्ली के चार जिले अब ऑरेंज जोन में हैं. यानी, इन जिलों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. दिल्ली में अस्पतालों में भी मरीज बढ़ रहे हैं और इनकी संख्या 160 हो गई है, हालांकि राहत की बात यह है कि मौत के मामलों में इजाफा नहीं हुआ है.

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दिल्ली के दक्षिणी जिला, पूर्वी, उत्तर पश्चिमी और सेंट्रल जिले में सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं. इन चारों जिलों में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट पांच प्रतिशत से ज्यादा हो गया है. सबसे अधिक संक्रमण दर दक्षिणी दिल्ली जिले में हैं. इन जिले में रेड जोन भी सबसे अधिक हैं. दिल्ली में पिछले चार दिन में ही नए मामले 70 फीसदी तक बढ़ गए हैं. इसके साथ ही पॉजिटिविटी रेट भी 2 प्रतिशत से बढ़कर करीब 6 हो गया है.विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, पॉजिटिविटी रेट का 5 प्रतिशत से ज्यादा होना खतरे का संकेत होता है. एक्सपर्ट का कहना है कि दिल्ली में हर कुछ समय में केस बढ़ रहे हैं. इसका कारण यह है कि वायरस में लगातार म्यूटेशन हो रहा है और इसके नए-नए वेरिएंट आ रहे हैं. यह वेरिएंट लोगों को संक्रमित कर रहे हैं.

दो नए सब वेरिएंट से बढ़ रहे हैं केस

दिल्ली में कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron variant) के दो नए सब वेरिएंट की पुष्टि हुई है. आइएलबीएस संस्थान में कोरोना संक्रमितों के सैंपलों की जीनोंम सीक्वेंसिंग में ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट BA.2.38 और BA.2.37 (Omicron Sub Variant BA.2.38) मिले हैं. ये दोनों वेरिएंट ओमिक्रॉन के अन्य सब वेरिएंट जैसे BA.5 और BA.4 की तरह ही हैं. इससे संक्रमित मरीजों में हल्के लक्षण ही देखे गए हैं.

कोविड एक्सपर्ट डॉ. युद्धवीर सिंह का कहना है कि आने वाले दिनों में दिल्ली में कोरोना के मामलों में थोड़ा इजाफा हो सकता है. नए वेरिएंट से कुछ लोग संक्रमित हो सकते हैं और इससे केस बढ़ेंगे, हालांकि इन वेरिएंट से कोई खतरा नहीं होगा. क्योंकि ये ओमिक्रॉन के ही सब वेरिएंट हैं.

बुजुर्ग और बीमार लोग सतर्क रहें

डॉ. का कहना है कि आने वाले दिनों में केस बढ़ सकते हैं. ऐसे में बुजुर्ग और पुरानी बीमारी से पीड़ित लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. अगर लापरवाही बरती तो ये लोग संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं. ओमिक्रॉन के सब वेरिएंट्स से भले ही लक्षण गंभीर नहीं है, लेकिन ये लोगों को दोबारा भी संक्रमित कर रहा है. ऐसे में अगर कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग फिर से संक्रमण की चपेट में आते हैं तो उन्हें खतरा हो सकता है. ऐसे में जरूरी है कि कोरोना से बचाव करें और कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करें.

Similar Posts