CM योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों को दी सख्त हिदायत, नूपुर शर्मा पर बयान देने को लेकर कहा- मर्यादा में रहें और विवादित बयानबाजी न करें

Uttar Pradesh Yogi Government Big Decision No female worker bound to work without her written consent before 6am and after 7pm

बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के पैगंबर मोहम्मद को लेकर दिए गए बयान के बाद पिछले शुक्रवार को जुम्मे की नमाज के बाद उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई शहरों में हिंसा हुई. जिसके बाद अब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने अपने मंत्रियों को साफ हिदायत दी है कि वो नूपुर शर्मा को लेकर कोई बयान नहीं देंगे. सीएम ने अपने किसी भी मंत्री को इस मामले पर बयान देने से साफ मना कर दिया है. उन्होंने कहा कि अब इस पर कोई भी कुछ नहीं बोलेगा. रअसल मंगलवार को कैबिनेट की बैठक से पहले सीएम योगी ने मंत्रिपरिषद की मीटिंग बुलाई थी.

जिसमें कैबिनेट मंत्री, स्वतंत्र प्रभार के राज्य मंत्री और सभा राज्य मंत्री शामिल हुए. इस बैठक में सीएम योगी ने नूपुर विवाद से सबको दूर रहने को कहा है. सीएम ने मंत्रियों से कहा है कि सभी मंत्री पद और दायित्व की मर्यादा के अनुरूप ही आचरण करें. उन्होंने कहा कि मंत्री की ओर से दिए गए किसी भी विवादित बयान का जनता में संदेश जाता है और इसका प्रभाव सरकार की छवि पर पड़ता है.

पार्टी ने नूपुर शर्मा को किया निलंबित

सीएम ने बैठक में पहले सभी मंत्रियों से बातचीत की उनका हाल चाल पूछा. फिर उन्होंने मंत्रियों से कहा कि नूपुर शर्मा को विवादित बयान के बाद पार्टी ने निलंबित कर दिया है. उन्हे पार्टी से निलंबित करने के बाद भी विवाद थम नहीं रहा है. उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा के मामले में बीजेपी की ओर से जो बयान जारी किया जाएगा, सभी मंत्रियों को उससे इतर कुछ नहीं बोलना है. उन्होंने मंत्रियों को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र के साथ प्रभार वाले जिलों में भी इस मुद्दे पर कानून व्यवस्था की निगरानी करने को कहा है.

आजमगढ़ और रामपुर उपचुनाव पर बीजेपी का फोक्स

आजमगढ़ और रामपुर में उपचुनाव होने हैं. ऐसे में योगी सरकार पूरी ताकत के साथ उपचुनाव की तैयारियों में लग गई है. मंत्रिमंडल की बैठक में वित्त और संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना के नेतृत्व में पश्चिमी यूपी के मंत्रियों को रामपुर में तैनात किया गया है. वहीं कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के नेतृत्व में अवध और पूर्वांचल के मंत्रियों को आजमगढ़ में चुनाव प्रचार और प्रबंधन के लिए तैनात करने का निर्णय किया गया है.

Similar Posts