China Attacks Taiwan: ‘चीन ने ताइवान में कर दिया हमला’, जानिये क्यों वायरल हो गई ये खबर

Taiwan

पड़ोसी देशों को लेकर चीन (China) का रवैया शुरू से ही आक्रामक रहा है. फिर चाहे नेपाल हो, भूटान हो या ताइवान, सब चीन की हरकतों से वाकिफ हैं. इस बीच बुधवार को ताइवान (Taiwan) में चीन के हमले की खबर ने सबको परेशान कर दिया. दरअसल चीन ने ताइवान पर हमला (Taiwan Attack) तो नहीं किया था, लेकिन वहां के एक टीवी न्यूज चैनल ने चीन के हमले की खबर प्रसारित कर दी थी. हालांकि इसके बाद चैनल की ओर से माफी भी मांगी गई है.

बुधवार को ताइवान के टीवी न्यूज चैनल चाइनीज टेलीविजन सिस्टम्स ने स्थानीय समयानुसार सुबह करीब 7 बजे अपने टीवी के टिकर (चैनल में नीचे चलने वाली पट्टी) पर खबर चलाई कि चीन की ओर से न्यू ताइपे सिटी के कई इलाकों में हमला कर दिया है. इसमें लिखा था, ‘न्यू ताइपे सिटी में चीन ने गाइडेड मिसाइलों के जरिये हमला किया है. ताइपे बंदरगाह में भी कई नौकाओं को क्षतिग्रस्त किया गया है. बानकाओ स्टेशन में भी स्पेशल फोर्सेज की ओर से कई जगह बम लगाए गए थे, जिनके धमाकों से कई जगह आग लगी है.’

टीवी चैनल ने माफीनामे में कही ये बात

वहीं ताइवान के इस टीवी चैनल ने यह खबर चलाने के कुछ ही घंटे बाद माफीनामा भी जारी कर दिया. इसे चैनल में लाइव प्रसारण के दौरान किया गया है. चैनल की ओर से कहा गया है कि न्यू ताइपे सिटी फायर डिपार्टमेंट के लिए एक डिजास्टर प्रिवेंशन वीडियो बनाया गया था. इसे एक दिन पहले बनाया गया था. लेकिन बुधवार को यह प्रोडक्शन के स्तर पर खामी के चलते प्रसारित हो गया था.

चीनी हमले का दृश्य डालने को कहा गया था

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार न्यू ताइपे सिटी फायर डिपार्टमेंट के कमिश्नर हुआंग डि चिंग ने कहा है कि एक वार्षिक ड्रिल के हिस्से के रूप में चीनी हमले का दृश्य वीडियो में डालने को कहा गया था. ऐसा ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने सभी म्यूनिसिपल सरकारों से करने को कहा था. उन्होंने कहा कि यह वीडियो नेशनल डिफेंस की लामबंदी और डिजास्टर प्रिवेंशचन की ड्रिल के लिए था. रक्षा विभाग की ओर से कहा गया था कि वीडियो में चीनी हमले का दृश्य डाल दिया जाए. इसलिए वीडियो की शुरुआत में इसे डाला गया था.

ताइवान पर चीनी हमले की थी चर्चाएं

रूस की ओर से यूक्रेन पर किए जा रहे हमलों के मद्देनजर ऐसा माना जा रहा था कि अगर शांति से बात नहीं बनती है तो चीन भी ताइवान पर हमला कर सकता है. हालांकि ये सिर्फ चर्चाएं ही रहीं, चीन की ओर से ऐसा हमला नहीं किया गया. ताइवान में पिछले कई साल से चीन की ओर से सेना बढ़ाने के साथ ही आर्थिक और रणनीतिक दबाव भी बनाए जाने को देखा गया है. अमेरिका से रिश्ते बढ़ाने के कारण चीन लगातार ताइवान पर निशाना साधता रहा है.

Similar Posts