CBSE Exam 2022 Tips: सीबीएसई बोर्ड एग्जाम में आंसर लिखते समय अपनाएं ये 5 गोल्डन टिप्स, मिल सकते हैं एक्स्ट्रा मार्क्स

Cbse Board Exam

Tips for Writing Answers in CBSE Board Exam: सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा 26 अप्रैल 2022 से शुरू हो रही है. उम्मीद है आपने लिखने का भरपूर अभ्यास किया होगा. इसमें कोई दो राय नहीं है कि पिछले दो सालों में बोर्ड परीक्षाएं रद्द (Board Exams 2022) होने से कई स्टूडेंट्स ने अलग-अलग कारणों से लिखने की आदत खो दी है. हालांकि स्कूलों से मिले इनपुट के आधार पर यह कहा जा सकता है कि ज्यादातर छात्रों ने स्कूल में आयोजित प्री-बोर्ड परीक्षा में अपना पेपर समय पर पूरा किया. अगर आपकी राइटिंग स्पीड (CBSE answer writing) थोड़ी कम है तो घबराएं नहीं और आप इस बात को ध्यान में रखें कि सीबीएसई एग्जाम बजाय रटने के वैचारिक समझ (बेसिक कॉन्सेप्ट समझने) पर आधारित है.

इस आर्टिकल में हम कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं जो परीक्षा में बेहतर स्कोर करने में आपके काम आ सकते हैं. एग्जाम के लिए सिलेबस के अनुसार तैयारी और मुख्य अवधारणाओं पर कमांड है तो आगे बताई गई बातों पर अमल करते हुए पेपर लिखें. संभव है कि आप उम्मीद से ज्यादा मार्क्स हासिल करेंगे.

CBSE Board Exam Tips: एग्जाम हॉल में इन बातों का ध्यान रखें

एग्जाम से पहले कई स्टूडेंट्स असमंजस में होते हैं कि क्या करें. जैसे-जैसे बोर्ड परीक्षाएं नजदीक आ रही है, कुछ स्टूडेंट्स इस बात से घबराए हो सकते हैं कि उनकी तैयारी पूरी नहीं है. कई बार पूरे सिलेबस की तैयारी के बाद भी ऐसा महसूस होता है. अगर आपने सिलेबस के अनुसार पढ़ाई की है तो चिंता की कोई बात नहीं. क्योंकि आपका कॉन्सेप्ट क्लीयर है. आपको बस प्रजेंटेशन पर काम करने की जरूरत है. आगे दिए गए टिप्स पर ध्यान दें:

  1. प्रभावशाली प्रजेंटेशन (Effective Presentation): अपने उत्तर अच्छी लिखावट में साफ और स्पष्ट तरीके से लिखें. फॉन्ट यानी अक्षरों का आकार बहुत छोटा या बड़ा नहीं होना चाहिए. अगर समय मिले तो हाशिए (margin), प्रश्नों के उत्तर लिखने के बाद लाइन्स खींचकर एग्जामिनर को प्रभावित करने का काम करें. ध्यान रहे, आपके पेपर की जांच करने वाले व्यक्ति के पास आपके उत्तर की प्रत्येक पंक्ति को पढ़ने का समय नहीं है. इसलिए आपका आंसर साफ-साफ दिखना चाहिए.
  2. समय की कमी (Time Constraint): आमतौर पर छात्र राइटिंग पर फोकस करते हुए पेपर की शुरुआत में धीरे-धीरे लिखते हैं और समय की कमी के कारण अंतिम प्रश्नों को लिख नहीं पाते. यकीनन आप एक ऐसे प्रश्न को मिस नहीं करना चाहेंगे जिसका जवाब आप जानते हैं. इसलिए शुरुआत से ही राइटिंग स्पीड सही रखें. प्रश्न पत्र को पढ़ने के लिए कुछ समय दें और यह जांचें कि हर पेज ठीक से प्रिंटेड है. एग्जाम पेपर से संबंधित सभी शंकाओं को पहले ही दूर करने का प्रयास करें.
  3. सटीक उत्तर लिखें (Mind Precision): एग्जाम पेपर लिखते समय 2 या 3 अंकों के प्रश्नों के लिए लंबी कहानियां न लिखें. हमेशा टू द पॉइंट उत्तर लिखें और सभी मुख्य शब्दों को हाइलाइट या अंडरलाइन करें. अपने उत्तर को पैराग्राफ की तुलना में पॉइंट-वाइज लिखना बेहतर है. एग्जाम से पहले पिछले साल को पेपर अच्छी तरह से हल करें. टॉपिक और कुछ सवाल हर साल दोहराए जाते हैं, भले ही अलग-अलग तरीकों से.
  4. लकी अटेम्प्ट (Lucky Attempts): अगर आप किसी प्रश्न का उत्तर ठीक तरह से या बिल्कुल नहीं जानते हैं तब भी इसे अटेम्प्ट करने का प्रयास करें. पेज खाली छोड़ने से बेहतर है कुछ लिखने का प्रयास करना. अगर आप लकी हैं तो आपको कुछ अंक मिल सकते हैं. अगर आप विषय / प्रश्न से संबंधित कुछ भी लिखते हैं, तो शायद आपको 0.5 अंक मिल जाएं. यह आपके स्कोर को 89.5 से 90% तक ले जा सकता है.
  5. गोल्डन रूल (Golden Rule): एग्जाम के बाद अपने दोस्तों के साथ आंसर पर चर्चा न करें. अगर आपने इस पेपर में सिली मिस्टेक की है तो आपके अगले पेपर की तैयारी खराब हो सकती है. तनाव बढ़ाने वाला कोई भी काम नहीं करें. इस मंत्र को अपनाएं- जो हो गया सो हो गया, अब अगले पेपर में बेहतर करना है.

CBSE Subject Wise Tips: सीबीएसई एग्जाम सब्जेक्ट वाइज टिप्स

  1. फीजिक्स (Physics): डेरिवेशन पर अधिक ध्यान दें. यह भारी-भरकम किताबों से स्टडी करने का समय नहीं है. इसलिए उन किताबों से केवल डेरिवेशन देखें और उसे एक तरफ रख दें. जहां भी आवश्यक हो, सभी प्रश्नों के लिए डायग्राम बनाएं. NCERT बुक के अंतिम कुछ अध्यायों की उपेक्षा न करें. फ्लोचार्ट और परिभाषाएं खास तौर पर रिवाइज करें. न्यूमेरिकल्स में यूनिट का उल्लेख करना न भूलें.
  2. केमिस्ट्री (Chemistry): यह विषय आमतौर पर ऑब्जेक्टिव-ओरिएंटेड है. केमिकल फार्मूला (chemical formulae) या सिम्बल का मेंशन तभी करें, जब आप कॉन्फिडेंट हों. सबसे कम पसंद किए जाने वाले टॉपिक जैसे- नोमन्क्लेचर (nomenclature), धातु विज्ञान यानी मेटलर्जी (metallurgy), बायोमॉलीक्यूल (biomolecules) हैं. उन्हें न छोड़ें. आर्गेनिक केमिस्ट्री में केमिकल रिएक्शंस के कंडीशन को मेंशन करना न भूलें.
  3. गणित (Maths): सभी प्रॉब्लम्स का फॉर्मूला जरूर लिखें. अगर समय बचा हो तो अपने उत्तरों की बार-बार जांच करें. इस बात का ख्याल रखें कि कैलकुलेशन मिस्टेक न हो. सभी स्टेप्स कारण सहित लिखें. कई बार स्टूडेंट्स बेहद मामूली स्टेप छोड़ देते हैं. आप ऐसा न करें.

CBSE Term 2 Exam 2022: राहत की बात

इस साल सीबीएसई बोर्ड परीक्षा सिर्फ दो घंटे की है. आमतौर पर 80 अंकों के पेपर के लिए तीन घंटे मिलते हैं. लेकिन इस बार 40 अंकों का पेपर लिखने के लिए दो घंटे का समय मिल रहा है. इसलिए पहले आसान प्रश्नों को हल करें. टाइम मैनेजमेंट (time management) का ख्याल रखें. 5, 3 और 2 अंक वाले प्रश्नों के लिए निश्चित समय दें. परीक्षा शुरू होने में कुछ दिन बचे हैं. ऐसे में उंगलियों और हाथों की मस्कुलर स्टैमिना (muscular stamina) डेवलप करने के लिए रोजाना तीन-चार पेज लिखें. सेल्फ वैल्युएशन के लिए टाइमर सेट करें ताकि पेपर पूरा करने में कोई दिक्कत न हो. खुद पर विश्वास रखें, शांत रहें और अपना 100 परसेंट दें.

Similar Posts