Bihar: सीतामढ़ी में पति ने पत्नी की गला रेतकर की हत्या, ससुर को फोन कर कहा- शव आंगन में पड़ा है, आकर ले जाओ

Wife murdered

बिहार के सीतामढ़ी (Bihar Sitamarhi) में एक सनकी पति ने पत्नी की गला रेतकर हत्या कर दी. हत्या (Murder) करने के बाद सनकी पति ने दीवार पर लिख दिया मैं अजय पत्नी को मारा है, किसी का कसूर नहीं है, है तो ससुर. दिल को दहला देने वाली ये घटना सीतामढ़ी के जिला मुख्यालय डुमरा के बड़ी बाजार की है. हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी पति फरारा हो गया है. घटना मंगलवार सुबह की है. मृतका की पहचना 35 वर्षीय रेखा देवी के रूप में हुई है.

इस वारदात की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉटम के लिए भेज दिया, पुलिस आरोपी पति की तलाश कर रही है.

कुछ दिनों से दोनों में चल रहा था विवाद

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि मृतका रेखा देवी अपने पति के साथ डुमरा के बड़ी बाजार में अपने तीन बच्चों और पति के साथ रहती थी . यहां वह आसपास के घरों में चूल्हा चौका का काम करती थी. जबकि उसका पति फेरी लगाकर चप्पल जूता बेचने का काम करता था. रेखा देवी और उसके पति का पिछले कुछ दिनों से किसी बात पर विवाद चल रहा था और अक्सर दोनों में लड़ाई झगड़ा हो रहा था.

ससुर को फोन कर दी हत्या की सूचना

मंगलवार को सुबह पति अजय कुमार ने पत्नी की हत्या कर दी और ससुर को फोन कर कहा कि उसने पत्नी रेखा देवी की हत्या कर दी है. शव आंगन में पड़ा है, आकर ले जाओ. जिसके बाद मृतका के मां बाप वहां पहुंचे तो देखा खून से लथपथ शव आंगन में पड़ा है और आरोपी पति फराऱ है. इस बीच वहां आसपास के लोगों की भी भीड़ जुट गई.

मौके पर पहुंचे एएसआई रामजी यादव ने कहा कि शव को पोस्टमॉटम कराने के बाद शव को उनके परिजनों को सौंप दिया पुलिस हत्या के मामले की जा कर रही है साथ आरोपी की तलाश में छापेमारी कर रही है

नवादा में पत्नी और बेटी की ह्त्या

इससे पहले 1 अप्रैल को बिहार के नवादा में एक सनकी पति ने पत्नी और अपनी दो बेटियों की हत्या कर दी और खुद थाने पहुंच कर सरेंडर कर दिया. मृतकों की पहचान सावित्री देवी व उसकी एक वर्षीय बेटी काजल और दो वर्षीय बेटी दिव्या के रूप में हुई है. दिल को दहला देने वाली ये घटना नक्सल प्रभावित इलाका गोविंदपुर थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव की है. घटना के बारे में गांव वालों ने बताया कि दीपक कुमार की दिमागी हालत ठीक नहीं थी. बीते एक साल से उसका रांची में इलाज चल रहा था

Similar Posts