Bengal Poll Violence: नंदीग्राम हिंसा मामले में CBI ने TMC नेता अबू ताहिर सहित अन्य आरोपियों को दिया नोटिस, हाजिर होने का निर्देश

Tmc Leader Abu Tahir Cbi Notice

चुनाव बाद हिंसा मामले ( West Bengal Violence ) में सीबीआई ने नंदीग्राम में अबू ताहिर समेत कई टीएमसी नेताओं को नोटिस जारी किया है. चुनाव बाद हुई हिंसा मामले में नंदीग्राम पंचायत समिति के उपाध्यक्ष एवं भूमि बेदखली रोकथाम समिति के नेता अबू ताहिर समेत नंदीग्राम (Nandigram) के कई अन्य टीएमसी नेताओं का नाम जोड़ा गया है. बता दें कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई चुनाव बाद हिंसा के मामले की जांच कर रही है. इस मामले में 200 से अधिक एफआईआर दर्ज किए गए हैं और चार्जशीट भी दाखिल की गई है. इस मामले में की अभी भी जांच जारी है. सीबीआई (CBI) मामले की तहकीकात कर रही है.

अबू ताहिर ने दावा किया कि भाजपा कार्यकर्ता देवव्रत मैती की हत्या सहित चिल्लाग्राम हत्याकांड में टीएमसी नेताओं को फंसाने की साजिश रची जा रही है और इन सभी घटनाओं के पीछे राज्य के विपक्षी नेता शुभेंदु अधिकारी का हाथ है.

टीएमसी ने शुभेंदु अधिकारी पर लगाया फंसाने का आरोप

उन्होंने आगे कहा कि शुभेंदु अधिकारी कई राजनीतिक बैठकों में गए थे और कहा था कि उन्होंने 100 लोगों की सूची तैयार की है. उसके बाद यह देखा गया कि सीबीआई नोटिस भेज रही थी. हमने पार्टी के साथ चर्चा की है. यदि जरूरी हुई, तो सुप्रीम कोर्ट में अपील की जाएगी. वह आगामी पंचायत चुनावों से पहले नंदीग्राम में मैदान खाली करना चाहता है. वह एक स्वार्थी और प्रतिशोधी व्यक्ति हैं. भूमि आंदोलन के नेता ने दावा किया कि जो लोग जेल में हैं. वे बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. प्रभावशाली होने के कारण हिरासत में लिया गया है. गिरफ्तारी की संभावना से ये नेता उपस्थिति से बच सकते हैं.

नंदीग्राम सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में बीजेपी ने लगाया था हिंसा का आरोप

विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी ने नंदीग्राम सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में टीएमसी पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया था. बीजेपी का आरोप था कि विधानसभा चुनाव में टीएमसी की जीत के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की गई. बीजेपी का समर्थन करने के कारण कई कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई और कइयों को बेदखल कर दिया गया. इस मामले में मानवाधिकार आयोग की टीम राज्य के विभिन्न इलाकों का दौरा किया था और हाईकोर्ट को रिपोर्ट सौंपी थी. उसके बाद हाईकोर्ट ने रेप सहित अन्य जघन्य मामले की जांच का आदेश सीबीआई से कराने का निर्दश दिया है. सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है.

Similar Posts