Azamgarh Loksabha Bypoll: आजमगढ़ उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी बनने को तैयार भोजपुरी स्टार निरहुआ, अखिलेश यादव को बताया स्वार्थी

Akhilesh And Nirahua

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आज़मगढ़ जिले में लोकसभा उपचुनाव (Azamgarh Loksabha Bypoll) को लेकर राजनीतिक पारा धीरे-धीरे चढ़ने लगा है. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में हर जगह बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद आजमगढ़ में चूक गई थी. लेकिन अब आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी अपना दम दिखाने की तैयारी में जुट गई है. वैसे तो आजमगढ़ सीट शुरू से समाजवादियों के झोली में रही है. वहीं विधानसभा चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी ने आजमगढ़ के सभी सीटों पर चुनाव हार गई थी. अब यह तो तय है कि सपा के गढ़ आजमगढ़ में सेंध लगाया बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा. लेकिन बीजेपी ने अपनी राजनीतिक बिसात बिछानी शुरू कर दी है. इसलिए भारतीय जनता पार्टी के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी और भोजपुरी स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ (Dinesh Lal Yadav) ने उप चुनाव को देखते हुए जिले में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है.

निरहुआ ने अखिलेश पर बोला हमला

गुरुवार को आजमगढ़ पहुंचे दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ (Dinesh Lal Yadav Nirahua) ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव के समय ही मैंने कहा था कि अखिलेश यादव अपने निजी स्वार्थ के लिए कभी भी आजमगढ़ को छोड़ सकते हैं और ठीक वैसा ही हुआ. कहां अखिलेश कहते थे आजमगढ़ और इटावा मेरा घर है. दिनेश लाल यादव ने कहा कि अखिलेश सांसद रहकर भी कुछ नहीं करते थे, इसलिए उनके छोड़ने से भी जिले में कोई फर्क नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा कि वह लगातार आजमगढ़ के दौरे पर हैं, यहां की जनसमस्याओं से जिलाधिकारी से मुख्यमंत्री योगी तक को अवगत कराते रहते हैं. बता दें कि अखिलेश यादव के सांसद पद छोड़ने के बाद यह सीट खाली हो गई है.

पार्टी मौका देगी तो चुनाव लड़ेंगे: दिनेश लाल यादव

दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ (Dinesh Lal Yadav Nirahua) ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अगर उन्हें उपचुनाव में उतारा तो वह चुनाव लड़ेंगे. वहीं आजम खान पर कार्रवाई को लेकर अखिलेश यादव की चुप्पी पर भी दिनेश लाल यादव ने तंज कसते हुए कहा कि वह सपा अध्यक्ष को जितना जानते हैं, उसके आधार पर कह सकते है कि वह खुद के अलावा किसी के बारे नहीं सोचते हैं. वह चाहे उनके पिता मुलायम सिंह यादव हों या चाचा शिवपाल यादव. निरहुआ ने अखिलेश यादव पर प्रहार करते हुए कहा कि वह एक बार पिता मुलायम और चाचा शिवपाल की वजह से मुख्यमंत्री बन गए. लेकिन अभी भी उनके दिमाग से मुख्यमंत्री पद उतरा नहीं है और वे उसी तेवर में रहते हैं.

जिन्ना की विचारधारा पर चलते हैं अखिलेश

चाहे आजम खान (Azam Khan) हो, शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) हों या फिर आजमगढ़ की जनता अगर यह सोचे कि अखिलेश यादव उनके साथ खड़े होंगे तो यह उनकी भूल है. दिनेश लाल यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री की कुर्सी पाने के लिए देश का बंटवारा करने वाले जिन्ना की विचारधारा पर चलने वाले अखिलेश अपनी पार्टी और अपने घर परिवार के लिए क्या करेंगे.

हमारे लिए राष्ट्र सर्वोपरी: निरहुआ

शिवपाल यादव के भाजपा में जाने के सवाल पर दिनेश लाल यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की अपनी विचार धारा है. अगर कोई हमारी पार्टी की विचारधारा पर चलकर आ रहा है तो उनका स्वागत है. उन्होंने कहा कि हमारे लिए राष्ट्र सर्वोपरी है. क्योंकि हम एक अभिनेता या नेता नहीं बल्कि अपने राष्ट्र के लिए काम करते हैं.

Similar Posts