Trilochan Singh Wazir Murder Case: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को मिली कामयाबी! एक और आरोपी हरमीत सिंह गिरफ्तार

Trilochan Singh Wazir

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल (Special Cell) ने जम्मू-कश्मीर विधान परिषद के पूर्व सदस्य और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता त्रिलोचन सिंह वजीर (Trilochan Singh Wazir) की हत्या के आरोप में रविवार को एक और आरोपी हरमीत सिंह (61) को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में पुलिस दो आरोपियों राजू गंजा और बलबीर उर्फ बिल्ला को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. दिल्ली के मोती नगर इलाके में नेशनल कांफ्रेंस के नेता त्रिलोचन सिंह वजीर (67) का शव बीते 9 सितंबर को फ्लैट के बाथरूम में सड़ी गली अवस्था में मिला था.

दरअसल, त्रिलोचन सिंह वजीर मर्डर केस की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल की टीमें पिछले कई दिन से घटना के दो प्रमुख संदिग्धों हरप्रीत सिंह और हरमीत की तलाश में जुटी हुई थी. वहीं, हरप्रीत सिंह और हरमीत सिंह की जानकारी का पता लगाने के लिए पुलिस टीम अमृतसर और जम्मू भेजी गई थीं.

दिल्ली पुलिस ने एक और आरोपी को किया गिरफ्तार

मर्डर प्लान का मास्टरमाइंड हरप्रीत था- दिल्ली पुलिस

गौरतलब है कि इससे पहले राजू की गिरफ्तारी के बाद एडिशनल डीसीपी (पश्चिम दिल्ली) प्रशांत गौतम ने बताया था कि अभी तक की जांच में पता चला है कि हरप्रीत ही इस मर्डर का मास्टरमाइंड था. इस मर्डर प्लान की योजना वही बना रहा था. दिल्ली पुलिस के मुताबिक इनका ये प्लान लगभग 45 दिन से चल रहा था कि वो वजीर को दिल्ली बुलाकर खत्म कर देंगे. इस साजिश में राजू गंजा भी पूरी तरह शामिल था. हालांकि इससे पहले वो मुंबई में ड्राइवर की नौकरी करता था. बीते 14 अगस्त को वह वापस आ गया और हरप्रीत के साथ ही रहने लगा था.

खाने में मिलाकर दी नशे की दवा

पुलिस अधिकारियो के अनुसार इन 4 लोगों ने प्लान बनाकर त्रिलोचन सिंह वजीर की हत्या की. इस दौरान हरमीत भी हरप्रीत के घर ही रह रहा था. हरप्रीत द्वारा दिल्ली पुलिस को दिए बयान में उसने बताया कि हरमीत ने ही गोली चलाई थी. वहीं, राजू ने पुलिस को बताया था कि इस मर्डर केस में कुल 4 लोग शामिल थे और चौथे आरोपी का नाम बिल्लू है. उसने बताया था कि ये मर्डर बीते 3 सितंबर को 9 और 10 बजे के बीच हुई थी. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस हत्या से पहले त्रिलोचन सिंह वजीर को खाने में नशे की दवा मिलाकर दी गई थी.

त्रिलोचन सिंह वजीर की हत्या सिर में गोली मारकर की गई थी

बता दें कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व एमएलसी त्रिलोचन सिंह वजीर (67) की हत्या सिर में गोली मारकर की गई थी. क्राइम ब्रांच सूत्रों की मानें तो त्रिलोचन सिंह वजीर के शव के पोस्टमॉर्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में सिर में गोली मारने की बात सामने आई है. दिल्ली के मोती नगर इलाके में त्रिलोचन सिंह वजीर का शव 9 सितंबर को फ्लैट के बाथरूम में सड़ी गली अवस्था में मिला था. फ्लैट बाहर से बंद था. उनके सिर पर प्लास्टिक लपेटा गया था. उनकी जान-पहचान वाले हरप्रीत सिंह (31) ने यह फ्लैट किराए पर लिया था. पुलिस ने बताया कि वजीर 2 सितंबर को दिल्ली आए थे और तब से हरप्रीत सिंह और उसके दोस्त हरमीत सिंह के साथ रह रहे थे.  हरप्रीत और हरमीत दोनों फरार हैं और उनका पता लगाने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है.

ये भी पढ़ें: ‘कॉलेजों में ‘बैक डोर एंट्री’ कल्चर पर लगाई जाए रोक’, दिल्ली HC ने कहा- यह मेधावी छात्रों का अपमान

ये भी पढ़ें: छत्रसाल स्टेडियम: सागर धनखड़ हत्याकांड में गिरफ्तार शार्प शूटर राहुल ढांडा की जन्म-कुंडली, नागालैंड से बनवाया आर्म लाइसेंस

You might also like