पंजाब के नए सीएम के रूप में आज सुबह 11 बजे शपथ लेंगे चरणजीत सिंह चन्नी, कार्यक्रम में नहीं जाएंगे राहुल गांधी

Charanjit Singh Channi And Rahul Gandhi 111

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की संभावना नहीं है. सूत्रों के मुताबिक समारोह छोटा होगा और कुछ अन्य नेता भी इसमें शामिल नहीं होंगे. चरणजीत सिंह चन्नी आज सुबह 11 बजे राज्य के 16वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले हैं. पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के बीच महीनों तक चली खींचतान के बाद अमरिंदर सिंह ने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. अमरिंदर सिंह ने अपने इस्तीफे के बाद कहा कि वह “अपमानित” महसूस कर रहे हैं. उन्हें पिछले दो महीनों में केंद्रीय नेतृत्व ने तीन बार बुलाया था.

पंजाब में बदलती सियासी तस्वीर का ये घटनाक्रम साल 2022 के विधानसभा चुनावों से चंद पहले हुआ. दलित नेता चन्नी कैप्टन अमरिंदर सिंह के मंत्रिमंडल में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे और राज्य में मुख्यमंत्री पद संभालने वाले पहले दलित सिख होंगे. रविवार को पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा था कि चन्नी को सर्वसम्मति से कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया है. पंजाब सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार चन्नी तीन कार्यकाल के लिए नगर पार्षद रहे और दो कार्यकाल के लिए नगर परिषद खरड़ के अध्यक्ष बने.

पहली बार 2007 में चमकौर सीट से जीते

वह 2007 में पहली बार चमकौर साहिब सीट से पंजाब विधानसभा के लिए चुने गए थे. साल 2012 और फिर 2017 में फिर से विधानसभा सीट के लिए चुने गए. 2015 में चन्नी को 14वीं पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में चुना गया था. 2017 में उन्हें पंजाब सरकार में टेक्निकल एजुकेशन एन्ड इन्डस्ट्रियल ट्रेनिंग, इम्पलॉयमेंट जेनरेशन के साथ साइंस एन्ड टेक्नोलॉजी विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया गया. काफी मंथन और बैठकों के बाद चरणजीत को विधायक दल का नेता स्वीकार किया गया है.

गांधी परिवार के करीबी रहे हैं चन्नी

पंजाब के नए मुख्यमंत्री के लिए नवजोत सिंह सिद्धू और सुखजिंदर सिंह रंधावा के अलावा सुनील जाखड़ और प्रताप सिंह बाजवा के नाम भी चर्चा में थे. फिर रविवार की सुबह वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री अंबिका सोनी का नाम सामने आया, लेकिन उन्होंने अपने कदम पीछे खींच लिए. इसके बाद पार्टी ने चरणजीत सिंह चन्नी के नाम पर भरोसा जताया है. चन्नी को गांधी परिवार का करीबी माना जाता रहा है.

ये भी पढ़ें- Punjab: ‘मुख्यमंत्री पद पर कामयाब होंगे चरणजीत सिंह चन्नी’, बोलीं पत्नी डॉ कमलजीत

ये भी पढ़ें- Punjab: नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में कांग्रेस लड़ेगी 2022 का विधानसभा चुनाव- बोले प्रभारी हरीश रावत

You might also like