Bihar: पटना में जिम ट्रेनर पर जानलेवा हमला, डॉक्टर और पत्नी पर FIR दर्ज; 9 महीने में हुई 1100 कॉल

Bihar Police Min

बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है. शहर में हुए जिम ट्रेनर की हत्या की साजिश रचने के आरोप में फेमस फिजियोथेरेपिस्ट डॉ राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह के खिलाफ कदमकुआं थाना में FIR दर्ज हो गई है. इसमें अज्ञात अपराधियों को भी शामिल किया गया है. थाना प्रभारी ने बीते शनिवार की देर रात इस बात की पुष्टि की. पुलिस ने देर शाम पूछताछ के बाद दंपत्ति को घर जाने दिया गया है. वहीं मर्डर की साजिश में नाम सामने आने के बाद डा. राजीव को स्वास्थ्य प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष के पद से हटा दिया

दरअसल, भास्कर रिपोर्ट के मुताबिक ये मामला राजधानी पटना जिले के कदमकुआं थाना क्षेत्र का है. पुलिस अधिकारी के अनुसार घायल जिम ट्रेनर विक्रम के बयान पर एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस द्वारा बीते कई घंटे की पूछताछ के बाद डॉक्टर और उनकी पत्नी को फिलहाल छोड़ दिया गया है. लेकिन पूछताछ के लिए इन्हें फिर से थाना बुलाया जाएगा. दंपत्ति के ऊपर जिम ट्रेनर विक्रम सिंह को गोली मरवाने का गंभीर आरोप लगा है. पुलिस के अनुसार शनिवार सुबह कदमकुआं के बुद्धमूर्ति के पास घायल जिम ट्रेनर ने पुलिस को दिए अपने बयान में फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह का नाम लिया था. विक्रम ने बताया कि डॉ ने जान से मारने की धमकी दी थी. जब मैं घर से बाहर निकला तो रास्ते में खड़े दो अपराधियों ने दोनों ओर से फायरिंग शुरू कर दी. इस हाईप्रोफाइल मामले में डॉ दंपत्ति का नाम आते ही पुलिस चौकन्ना हो गई है.

पुलिस को मिले जिम ट्रेनर और खुशबू के बीच संबध के सबूत

पटना एसएसपी के आदेश पर पुलिस उनको कस्टडी में लेकर थाने ले आई. शुरुआती तौर पर दोनों से पूछताछ भी की गई है. इस दौरान डॉ ने कई सवालों का जवाब सीधे तौर पर नहीं दिए. पुलिस के अनुसार घटना की कहानी को किसी पुराने विवाद की वजह से ही इस कांड को अंजाम दिया गया है. पुलिस अधिकारी के मुताबिक पीड़ित विक्रम को मौत की घाट उतारने के लिए सुपारी किलर का सहारा लिया गया. जब पटना पुलिस की टीम ने इसकी जांच-पड़ताल की तो चौंकाने वाली बातें सामने आई. पुलिस के अनुसार फिजियोथेरेपिस्ट की पत्नी खुशबू सिंह और जिम ट्रेनर के बीच प्रेम-संबध थे. जब इस बात की जानकारी डॉ को हुई तो उन्होंने विक्रम को धमकी देना शुरू किया. इसके चलते विक्रम, खुशबू से दूरी बनाने लगा था.

CDR से हुआ खुलासा

इस मामले में पुलिस ने जांच करते हुए घायल जिम ट्रेनर का मोबाइल जब्त कर लिया है. इसके बाद पुलिस ने उसका कॉल सीडीआर निकाला है. एसएसपी के मुतबिक खुशबू और विक्रम के बीच इस साल के जनवरी से लेकर अब तक 1100 बार बाते हुई है. इन दोनों के बीच देर रात तक कॉल पर बात हुई है. पुलिस के अनुसार ज्यादातर कॉल 30 से 40 मिनट के हैं. शुरुआती जांच में पुलिस को सबूत मिले हैं कि इसी साल 18 अप्रैल को पहली बार डॉ. राजीव ने कॉल कर विक्रम को जान से मारने की धमकी दी थी. वही, पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान बार-बार डॉक्टर और उनकी पत्नी अपना बयान बदल रहे हैं.

CCTV कैमरे में नजर आए सुपारी किलर

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिम ट्रेनर को गोली मारने का यह मामला राजधानी का हाई प्रोफाइल केस बन गया है. घटना की जानकारी पुलिस को लोगो ने कॉल कर दी थी. इसके बाद कदमकुआं थाना की पुलिस पहुंची. फिर सिटी SP सेंट्रल अम्बरीश राहुल मय फोर्स के साथ पहुंचे. जिस जगह पर अपराधियों ने गोली मारी, वहां पर वो बगैर गाड़ी के थे. क्योंकि, घटनास्थल पर लगे CCTV कैमरे को खंगाला गया है. जिससे पता चला कि गोली मारने के बाद दोनों अपराधी पैदल ही भागे है. पुलिस अधिकारी के अनुसार अपराधियों ने वारदात स्थल से दूर कहीं पर अपनी गाड़ी खड़ी करके रखी होगी, पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है. इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:  मां ने 1500 रुपए में किया अपनी ही बच्ची का सौदा, 20 हजार का ऑफर मिलने पर दूसरे को बेचने की कोशिश

ये भी पढ़ें:  ‘राम विलास पासवान को भारत रत्न देने के लिए केंद्र से करें अनुशंसा’ चिराग पासवान ने सीएम नीतीश को लिखी चिट्ठी

You might also like