3 शतक के साथ 624 रन… धोनी ने छोड़ा नहीं होता तो पुजारा ने ऐसे फोड़ा नहीं होता

चेतेश्वर पुजारा आईपीएल 2021 का खिताब जीतने वाली चेन्नई सुपर किंग्स टीम का हिस्सा थे, मगर इसके बाद फ्रेंचाइजी ने उन्हें झटका दे दिया.

चेतेश्‍वर पुजारा ने खुलासा किया कि चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के दिए झटके के बाद उन्‍होंने अपने खेल को बदला

Image Credit source: cheteshwar1 twitter

नई दिल्ली. चेतेश्वर पुजारा ने पिछले महीने इंग्लैंड में कमाल कर दिया. फिर चाहे तो काउंटी चैंपियनशिप हो या फिर रॉयल लंदन वनडे कप, हर जगह भारतीय बल्लेबाज का बल्ला जमकर चला है. उन्होंने ससेक्स की तरफ से रॉयल लंदन वनडे कप में 9 मैचों में 624 रन बनाए, जिसमें 3 ताबड़तोड़ शतक भी शामिल है. पुजारा की इस शानदार फॉर्म ने हर किसी को हैरान कर दिया, क्योंकि उनका खेल भी पहले के मुताबिक ज्यादा आक्रामक हो गया. उनके बदले हुए अंदाज के पीछे सबसे बड़ा कारण चेन्नई सुपर किंग्स का दिया झटका है.

हाई स्ट्राइक रेट पर किया काम

भारतीय बल्लेबाज पुजारा ने खुद इसका खुलासा किया. क्रिकेट पॉडकास्ट से बात करते हुए अनुभवी भारतीय बल्लेबाज ने कहा कि निश्चित रूप से ये उनके खेल का एक अलग ही पक्ष है. इसमें कोई शक नहीं हैं. पिच अच्छी थी. थोड़ी सपाट थी, मगर इस तरह की पिचों पर भी हाई स्ट्राइक रेट से स्कोर करने की जरूरत होती है. उन्होंने कहा इस चीज पर उन्होंने हमेशा काम किया है. पुजारा ने कहा कि पिछले साल वो आईपीएल का खिताब जीतने वाली सीएसके टीम का हिस्सा थे और जब उन्होंने कोई मैच नहीं खेला और साथी खिलाड़ियों को तैयारी करते हुए देखा तो उन्होंने खुद से ही कहा कि यदि शॉर्ट फॉर्मेट खेलना है तो बड़े शॉट लगाने होंगे.

कोच की बात से बढ़ा विश्वास

पुजारा ने कहा कि रॉयल लंदन वनडे कप से पहले उन्होंने इस पर काफी काम किया. उन्होंने कहा कि वो कोच ग्रांट फ्लावर के पास गए और कुछ शॉट पर काम करने के लिए कहा. जब वो कोच के साथ ट्रेनिंग कर रहे थे तो कोच ने उनसे कहा कि वो जिस शॉट की बात कर रहे थे, वो बेहतर खेल रहे हैं. कोच की इस बात से पुजारा का आत्मविश्वास बढ़ा. पुजारा ने खुलासा किया कि उस समय उन्होंने सोचा कि अगर वो कुछ लॉफ्टेड शॉट्स पर काम करते रहे तो वो टी20 या फिर वनडे में भी कामयाब हो सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.