हमीरपुर में ट्रक और ऑटो की टक्कर में 8 लोगों की मौत, 9 की हालत गंभीर; CM योगी ने जताया शोक, बोले- पीड़ित परिवारों को दी जाएगी हर संभव मदद

Road Accident

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हमीरपुर जिले में बुधवार को हुए एक भीषण सड़क हादसे में 8 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई. दरअसल, ये हादसा तब हुआ जब एक ऑटो में 16 लोग सवार होकर मौदहा के बड़े चौराहा से समेरपुर की तरफ आ रहे थे, तभी सामने से आ रहे तेज रफ्तार अनियंत्रित ट्रक ने एक लोडर में टक्कर मार दी. वहीं, लोडर सीधे ऑटो में जा भिड़ा. इस हादसे में ऑटो सवार 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि, 1 महिला सहित 3 अन्य लोगों ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.वहीं, एक्सीडेंट की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शवों बाहर निकाला गया. जहां मौजूद लोगों ने घायल को इलाज के लिए सामुदायिक केंद्र में भर्ती करवाया है. वहीं, 7 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है

दरअसल, ये मामला हमीरपुर जिले के मौदहा कोतवाली क्षेत्र के मकरांव गांव के पास हुआ है. जहां पर बने गोस्वामी ढाबा के नजदीक ट्रक लोडर और ऑटो में भीषण भिड़ंत हो गयी है, जिससे ऑटो सवार 5 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि, एक महिला ने सामुदायिक केंद्र मौदहा में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. वहीं, घायलों का इलाज कर उन्हें जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया.जहां इलाज के दौरान 2 अन्य लोगों ने भी दम तोड़ दिया. बताया जा रहा है कि लोडर में आम लदे थे जो एक्सीडेंट के बाद सड़क में दूर-दूर तक फैल गए. वहीं, स्थानीय लोगों ने पुलिस की मदद से घायलों और मृतकों को ऑटो से निकालते हुए अस्पताल पहुंचाया. इस वारदात को अंजाम देकर ट्रक चालक ट्रक छोड़कर मौके से फरार हो गया है.

घटना का CM योगी आदित्यनाथ ने लिए संज्ञान

हमीरपुर जिले में हुए भीषण सड़क हादसे की घटना का यूपी सीएम आदित्यनाथ ने भी संज्ञान लिया है. उन्होंने ट्वीट कर हादसे में मारे गए लोगो के लिए गहरा शोक व्यक्त करते है हुए अधिकारियों को मृतकों के परिजनों को हर सम्भव मदद के आदेश दिए है. साथ ही घायलों को समुचित इलाज करवाने के निर्देश दिए है,जिसके बाद हरकत में आये जिला प्रशासन के आलाधिकरियो ने आनन फानन में मौके में पहुंचकर घायलों का हालचाल जाना और उनके इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित की.

ऑटो में सवार थे 16 लोग,8 की हुई मौत

वहीं, नेशनल हाइवे में हुए सड़क हादसे में परिवहन विभाग की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है. जहां पर एक ऑटो में अधिकतम 4 लोग सवार हो सकते है, लेकिन इस ऑटो में 16 लोग सवार थे. सड़क दुर्घटना के बाद ऑटो पूरी तरह कबाड़ में बदल गया और ऑटो में फसे लोगो को बाहर निकालने में स्थानीय लोगों और पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी,जिसके बाद सभी को बाहर निकाला जा सका. इस हादसे में सिर्फ ऑटो सवार लोगों की ही मौत हुई है. जबकि, ट्रक चालक और लोडर चालक पूरी तरह सुरक्षित है. जहां मरने वाले में एक महिला,एक 6 साल की बच्ची और पुरुष है.

NH 34 में अब तक 1 साल में 1000 से ज्यादा लोगों की हुई मौत

बता दें कि, NH 34 में 1 साल के भीतर रोड़ एक्सीडेंट में 1 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, ट्रैफिक विभाग भी लोगो को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने की कोशिशें करता है. ऐसे में नियमो के उल्लंघन में लोगो के चालान भी काट कर जुर्माना वसूला जाता है. इसके बावजूद भी लोग यातायात नियमों का लोग पालन नही करते और इस तरह ही घटनाएं होती रहती है.

Similar Posts