सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम से हर साल हो सकती है 2 लाख की कमाई, जानिए कैसे

60 वर्ष से अधिक उम्र का कोई भी नागरिक एससीएसएस खाता खोल सकता है. खाता खोलते वक्त 1000 रुपये के गुणक में पैसा जमा करना होगा और अधिकतम 15 लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं. जॉइंट अकाउंट में सालाना 2 लाख की कमाई हो सकती है.

Senior Citizen Savings Scheme

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम यानी कि एसीएसएसएस वरिष्ठ नागरिकों के लिए चलाई जाने वाली सबसे बेहतर स्कीम है. इस स्कीम में अभी 7.4 फीसद की दर से ब्याज मिल रहा है जो कि खुदरा महंगाई से अधिक है. अगर यही बात सेविंग अकाउंट की ब्याज दर के बारे में देखें तो वह खुदरा महंगाई से बेहद कम है. खुदरा महंगाई जहां 7 फीसद है, तो सेविंग अकाउंट पर ढाई-तीन फीसद से ब्याज शुरू होकर छह-साढ़े छह परसेंट तक ही जाता है. इस हिसाब से सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम महंगाई के लिहाज से बेहद अच्छी जमा योजना है. इसकी एक खास बात ये भी है कि रिटायरमेंट बाद सीनियर सिटीजन को यह स्कीम गारंटीड रिटर्न देती है. इस हिसाब से देखें तो पोस्ट ऑफिस में चलाई जाने वाली यह स्कीम कई मायनों में लाभ देने वाली है.

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम या एससीएसएस सरकार समर्थित स्कीम है जो कि बिना किसी जोखिम के है और पोस्ट ऑफिस में आसानी से इसे चलाया जा सकता है. यह स्कीम रिटायर्ड लोगों को गारंटीड रिटर्न देती है और इस स्कीम में निवेश कर कोई वरिष्ठ नागरिक सालाना 2 लाख रुपये से अधिक की कमाई कर सकता है. आइए जानें कैसे.

1-5 साल के लिए 15 लाख जमा

60 वर्ष से अधिक उम्र का कोई भी नागरिक एससीएसएस स्कीम खोल सकता है. खाता खोलते वक्त 1000 रुपये के गुणक में पैसा जमा करना होगा और अधिकतम 15 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं. इस स्कीम का लॉक इन पीरियड 5 साल का होता है. आइए देखें तो मौजूदा 7.4 फीसद के हिसाब से अगर कोई व्यक्ति एससीएसएस में 5 साल के लिए 15 लाख रुपये का निवेश करता है, तो उसके कितना रिटर्न मिलेगा.

2-हर तिमाही 27750 रुपये ब्याज

15 लाख रुपये जमा करने पर 7.4 फीसद ब्याज के हिसाब से हर तिमाही 27,750 रुपये ब्याज मिलेगा. इसी तरह सालाना ब्याज 111,000 रुपये मिलेगा. इस तरह खाता मैच्योर होने पर अकाउंट होल्डर को कुल 5,55,000 रुपये ब्याज के रूप में मिलेंगे. एससीएसएस खाते पर हर तिमाही ब्याज मिलता है और इसकी दरें हर साल 31 मार्च, 30 जून, 30 सितंबर और 31 दिसंबर को लागू होती हैं. खाता खोलने के दिन स्कीम की जो भी ब्याज दर रहे, वही दर अगले पांच साल के लिए लागू हो जाती है.

3-जॉइंट डिपॉजिट का फायदा

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम जॉइंट डिपॉजिट या जॉइंट खाता खोलने का भी विकल्प देती है. इस तरह कोई सीनियर सिटीजन अपनी पत्नी के साथ यह खाता खोल सकता है. जॉइंट अकाउंट के केस में पति और पत्नी की सम्मिलित जमा राशि 30 (15 लाख प्रति जमाकर्ता) लाख हो जाएगी. इस तरह साल में इन दोनों जमाकर्ताओं को 111,000 गुणा 2 यानी कि 222,000 रुपये मिलेंगे. ऊपर हमने हिसाब बताया है कि एक जमाकर्ता को साल में 111,000 रुपये का ब्याज मिलता है. इस तरह पति-पत्नी एक साथ सीनियर सिटीजन स्कीम में 15-15 लाख रुपये का निवेश करें तो उन्हें आसानी से हर साल 222,000 रुपये की कमाई होगी. अगर सीनियर सिटीजन पति-पत्नी मैच्योरिटी पर अपना पैसा निकालना चाहें तो उन्हें 41,10,000 रुपये मिलेंगे.

ये भी पढ़ें



यूटिलिटी की लेटेस्ट खबरों के लिए यहां देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published.