सिखों को लेकर मजाक करने पर पूर्व LG किरण बेदी को मांगनी पड़ी माफी, कहा- मेरा ऐसा इरादा नहीं था

Kiran Bedi

पुडुचेरी की पूर्व राज्यपाल और पूर्व आईपीएस अफसर किरण बेदी (Kiran Bedi) को एक कार्यक्रम के दौरान सिखों पर व्यंग्य कसने के मामले में सोशल मीडिया पर ट्रोल होने और राजनीतिक दलों की ओर से कड़ी आलोचना का सामने के बाद माफी मांगनी पड़ गई. उन्होंने ट्वीट कर सफाई देते हुए कहा कि उनका इरादा किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था. इससे पहले आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) और कांग्रेस ने उनसे माफी मांगने को कहा.

इससे पहले आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने कल मंगलवार को पुडुचेरी की पूर्व राज्यपाल बेदी पर चेन्नई में उनकी पुस्तक के विमोचन के दौरान सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है. किरण बेदी की टिप्पणी पर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने जमकर निशाना साधा. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो गया जिसमें पूर्व आईपीएस अधिकारी किरण बेदी को सोमवार को अपनी पुस्तक फीयरलेस गवर्नेंस (Fearless Governance) के विमोचन कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर सिखों को लेकर “12 बजे” संबंधी व्यंग्य करते हुए देखा जा सकता है. उनकी कथित बयान पर आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रभारी जरनैल सिंह (Jarnail Singh) ने किरण बेदी की टिप्पणी की निंदा की.

मैं क्षमा चाहती हूंः किरण बेदी

सोशल मीडिया पर ट्रोल होने के बाद किरण बेदी ने ट्वीट कर कहा, “मैं अपने समुदाय का सबसे अधिक सम्मान करती हूं. मैं बाबा नानक देव जी की भक्त हूं. मैंने अपनी कीमत पर श्रोताओं से जो कुछ कहा (जैसा कि मैं भी यहां हूं) कृपया गलत न समझें. मैं इसके लिए क्षमा चाहती हूं. मैं किसी को चोट पहुंचाने वाली अंतिम शख्स हूं. मैं सेवा और दयालुता में विश्वास करती हूं.”

अपनी कुछ तस्वीरों के साथ किरण बेदी ने अपने एक और पोस्ट में कहा, “हमने उसी दिन सुबह पाठ और सेवा की. मैं एक भक्त हूं. मैं हर समय बाबा का आशीर्वाद चाहती हूं. मैंने दिन की शुरुआत घर में पाठ के साथ की. कृपया मेरे इरादे पर संदेह न करें. मेरे मन में अपने समुदाय को लेकर सबसे अधिक सम्मान और प्रशंसा है.”

आम आदमी पार्टी नेता जनरैल सिंह ने ट्वीट कर बेदी पर निशाना साधते हुए कहा, “जब मुगल भारत को लूटकर और बहन-बेटियों को अगवा कर ले जा रहे होते थे, तब सिख ही उनसे डटकर लड़ते थे और बहन-बेटियों की रक्षा करते थे. 12 बजे था मुगलों पर हमला करने का समय. यह है 12 बजे का इतिहास.” उन्होंने आगे कहा, “शर्म आनी चाहिए भारतीय जनता पार्टी के छोटी सोच वाले नेताओं को, जो सम्मान देने के बजाय सिखों का मजाक उड़ाते हैं.”

AAP और कांग्रेस ने की आलोचना

पार्टी की ओर से जारी बयान में जरनैल सिंह ने पूर्व पुलिस अफसर बेदी पर सिख समुदाय की भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया. AAP नेता ने कहा कि यह बेहद निंदनीय है कि पंजाब से ताल्लुक रखने वाली किरण बेदी ने जानबूझकर सिखों का मजाक उड़ाया. आम आदमी पार्टी ने किरण बेदी से बिना शर्त माफी मांगने की मांग भी उठाई.

कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने भी किरण बेदी पर सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाते हुए उनसे माफी की मांग की.

इस बीच, मंगलवार शाम को पुडुचेरी की पूर्व राज्यपाल किरण बेदी ने ट्वीट कर कहा, “इसका पछतावा होने के बावजूद मुझे ई-मेल, व्हाट्सएप और ट्विटर पर भद्दी गालियां मिल रही हैं. मैं दुर्व्यवहार करने वालों से ऐसा करने से परहेज करने और मुझे ऐसी स्थिति में नहीं डालने का अनुरोध करती हूं, जहां मुझे उनकी पहचान सार्वजनिक करनी पड़े.”

इनपुट-भाषा

Similar Posts