सर्वे के खिलाफ दारुल उलूम, देवबंद में आज होगा मदरसा सम्मेलन

सम्मेलन में सरकार की नीति और नीयत को देखते हुए आगे की कार्ययोजना तैयार की जाएगी. चूंकि तमाम उलमा मदरसा सर्वे के खिलाफ पहले ही बयान दे चुके हैं, ऐसे माहौल में सम्मेलन के फैसलों से मदरसा संचालकों को भी काफी उम्मीदें है.

दारुल उलूम देवबंद

उत्तर प्रदेश में गैर मान्यता प्राप्त मदरसों के सर्वे के खिलाफ दारुल उलूम ने अब ताल ठोक दी है. इसी क्रम में देवबंद में आज बड़े स्तर पर मदरसा सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है. इस सम्मेलन में राज्य भर के मदरसा संचालकों के पहुंचने को कहा गया है. दावा किया जा रहा है कि सम्मेलन में सरकार की नीति और नीयत को देखते हुए आगे की कार्ययोजना तैयार की जाएगी. चूंकि तमाम उलमा मदरसा सर्वे के खिलाफ पहले ही बयान दे चुके हैं, ऐसे माहौल में आयोजित हो रहे इस सम्मेलन के फैसलों से मदरसा संचालकों को भी काफी उम्मीदें है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार बीते 10 सितंबर से प्रदेश में संचालित मदरसों का सर्वे करा रही है. इस सर्वे के दौरान भले ही अभी तक कहीं कोई विरोध नहीं हुआ है. मदरसा संचालक भी सर्वे टीम का ना चाहते हुए भी पूरा सहयोग कर रहे हैं, लेकिन सर्वे को लेकर उनके अंदर काफी रोष भी है. ऐसे माहौल में देवबंद हो रहे मदरसा सम्मेलन के फैसलों का उन्हें बेसब्री से इंतजार है. इस लिए दूर दूर से मदरसा संचालकों के पहुंचने का क्रम शनिवार की शाम से ही शुरू हो गया है.

समुदाय विशेष को टार्गेट करने का आरोप

दारुल उलूम ने सीधा सीधा प्रदेश सरकार पर समुदाय विशेष को टार्गेट करने का आरोप लगाया. इसी प्रकार देश भर के अन्य उलमाओं ने भी सरकार की नीति और रनीयत पर सवाल खड़े किए हैं. इसके विरोध में इस्लामी तालीम के प्रमुख केंद्र दारुल उलूम में इस सम्मेलन का आह्वान किया गया है. इसमें विचार विमर्श करने के बाद सर्वे को लेकर लाइन ऑफ एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा. दावा किया जा रहा है कि सम्मेलन में प्रदेश भर में दारुल उलूम से संबद्ध 250 से अधिक मदरसा संचालक शामिल होंगे.

ये भी पढ़ें



रशीदिया मस्जिद में होगा सम्मेलन

मदरसा सम्मेलन का आयोजन प्रसिद्ध रशीदिया मस्जिद के अंदर होगा. इसके लिए दारुल उलूम प्रबंधन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं. सम्मेलन में शामिल होने के लिए मेहमानों के आने का क्रम शनिवार की शाम से ही शुरू हो गया था, उनके ठहरने के उचित इंतजाम किए गए हैं. साथ में यह तय किया गया है कि सम्मेलन से मीडिया को पूरी तरह से दूर रखा जाएगा. इस सम्मेलन के दौरान मीडिया को मस्जिद के अंदर जाने नहीं दिया जाएगा. समय समय से मीडिया को जरूरी सूचना देने के लिए एक मीडिया सेल का गठन किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.