सपा से किसी नियम और शिष्टाचार की उम्मीद करना कपोल कल्पना- CM योगी

Yogi Adityanath At Gorakhnath Temple

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन राज्य की मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) द्वारा आयोजित ‘पैदल मार्च’ पर तंज कसते हुए कहा कि सपा से किसी नियम और शिष्टाचार की उम्मीद करना कपोल कल्पना है. सोमवार को सदन की शुरुआत से पहले विधान भवन के बाहर योगी आदित्यनाथ से जब पत्रकारों ने सपा के पैदल मार्च को अनुमति देने के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि किसी भी दल को, किसी भी व्यक्ति को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात रखने में कोई बुराई नहीं है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नियमानुसार अगर उन्होंने (सपा) कोई अनुमति मांगी होगी तो पुलिस उन्हें सुरक्षित और सही मार्ग अवश्य देगी, अनुमति भी देगी, इसमें कोई संदेह नहीं है. सीएम योगी ने कहा कि, ‘लेकिन यह संबंधित और जिम्मेदार नागरिक, संगठन और राजनीतिक दलों का नैतिक दायित्व बनता है कि वे अपने किसी आंदोलन या जुलूस के लिए नियमानुसार अनुमति मांगें. बिना लोक व्यवस्था को भंग किए उस कार्यक्रम को निर्विघ्न संपन्न कराने का दायित्व प्रशासन का है.’

समाजवादी पार्टी से उम्मीद करना ही गलत

हालांकि, इसके आगे मुख्यमंत्री ने तंज कसते हुए कहा कि मुझे लगता है कि समाजवादी पार्टी से यह उम्मीद करना कि वह किसी नियम को मानेगी, किसी शिष्टाचार निभाएगी, यह कपोल कल्पना ही कही जा सकती है. सोमवार को विधानसभा सत्र की शुरुआत पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने सभी विधायकों के साथ महंगाई, बेरोजगारी, बदहाल कानून-व्यवस्था और किसान, महिला व युवा उत्पीड़न जैसे जनहित के मुद्दों को लेकर सपा मुख्यालय से विधानसभा तक ‘पैदल मार्च’ का ऐलान किया था.

अखिलेश के साथ धरने पर बैठे सपा के विधायक

हालांकि, पुलिस ने बीच रास्ते में ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव समेत उनके विधायकों को रोक दिया, जिसके विरोध स्वरूप वह धरने पर बैठ गए. बाद में उनका धरना समाप्त हो गया. पत्रकारों से बातचीत में सीएम योगी ने विधानमंडल के मानसून सत्र की कार्यवाही में भाग लेने आ रहे सभी सदस्यों का हृदय से स्वागत करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की 25 करोड़ जनता के जनाकांक्षा और अपेक्षा को सदन में रखकर उन समस्याओं के माध्यम से आमजन की संवेदना के साथ अपनी संवेदना को जोड़ने का एक अवसर सभी सदस्यों को मिलेगा.

उत्तर प्रदेश के विधानमंडल को देश का सबसे बड़ा विधानमंडल बताते हुए सीएम योगी ने कहा कि स्वाभाविक रूप से लोकतांत्रिक मूल्यों और आदर्शों पर विश्वास करने वाले सभी नागरिकों को उत्तर प्रदेश विधानमंडल की कार्यवाही का इंतजार होता है और वे बड़े विश्वास के साथ यहां पर होने वाली उन सभी चर्चाओं का हिस्सा बनकर गौर से देखते हैं.

बिना भेदभाव के काम कर रही डबल इंजन की सरकार

सीएम योगी ने दावा किया कि 25 करोड़ की आबादी के हितों के लिए डबल इंजन की सरकार बिना भेदभाव के कार्य कर रही है और समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को शासन की योजनाओं का लाभ प्रदान कर रही है. उन्होंने कहा कि विभिन्न चुनौतियों का सामना करते हुए भी उत्तर प्रदेश के अंदर अभाव और अराजकता के लिए कोई जगह नहीं है.

महिलाओं के लिए स्पेशल सत्र की व्यवस्था

सीएम योगी ने कहा कि सभी मुद्दों पर चर्चा का बेहतरीन माध्यम सदन है. उन्होंने कहा कि कल सरकार ने दलीय नेताओं को स्पष्ट रूप से कहा कि हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार हैं. माननीय सदस्यों द्वारा, विपक्ष द्वारा उठाए जाने वाले किसी भी मुद्दे पर जवाब देने को सदन तैयार है. सीएम योगी ने भरोसा जताया कि सदन में प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए योजना बनेगी. सीएम योगी ने कहा कि हमारे पीठासीन अधिकारियों ने 22 सितंबर का दिन सभी महिला सदस्यों के लिए महिला सशक्तिकरण के मुद्दे पर चर्चा के लिए रखा है.

(भाषा के इनपुट के साथ).