श्रीलंकाः रामबुक्काना में हटाया गया कर्फ्यू, निहत्थे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने चलाई थी गोलियां- जांच हुई शुरू

Sri Lanka Protest

श्रीलंकाई (Sri Lanka) अधिकारियों ने हिंसा प्रभावित दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र रामबुक्काना से गुरुवार को कर्फ्यू हटाने की घोषणा की. देश में ईंधन की कीमतों (Petrol-diesel Price) में ताजा बढ़ोतरी के खिलाफ रामबुक्काना में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे निहत्थे लोगों पर पुलिस की ओर से की गई गोलीबारी के बाद भड़की हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी जबकि 13 अन्य घायल हो गए थे. पुलिस (Sri Lanka Police) के मुताबिक बुधवार को स्थानीय समयानुसार पांच बजे कर्फ्यू हटा लिया गया. एक अधिकारी के अनुसार, कोलंबो से लगभग 90 किलोमीटर उत्तर पूर्व में रामबुक्काना के अस्पताल में भर्ती 14 प्रदर्शनकारियों में से कम से कम तीन की हालत गंभीर बनी हुई है. इसके अलावा इस हिंसा में 15 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे.

श्रीलंका के विदेश मंत्री जी एल पेइरिस ने संवाददाताओं से कहा, हमने मानवाधिकार आयोग से पुलिस गोलीबारी और इस हिंसा की निष्पक्ष जांच करने का अनुरोध किया है. हम ईमानदारी से इसकी जांच कराना चाहते हैं और कुछ भी छिपाना नहीं चाहते हैं. सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय के शीर्ष नौकरशाह जगत एलविस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने 33,000 लीटर ईंधन वाले ईंधन टैंकर को आग लगाने की कोशिश की थी. पुलिस को प्रदर्शनकारियों को ऐसा करने से रोकने के लिए मजबूर होकर गोलियां चलानी पड़ीं.

जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति की गई नियुक्त

एलविस ने कहा कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाने में अत्यधिक शक्ति का इस्तेमाल किया था या नहीं, इसकी जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति नियुक्त की गई है. अमेरिका, यूरोपीय संघ के दूतावासों और संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारी ने पुलिस गोलीबारी की निंदा करते हुए बयान जारी किए हैं. अमेरिका, यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र के दूतावासों ने बयान जारी कर पुलिस की गोलीबारी की निंदा की थी. श्रीलंका में सोमवार रात को ईंधन के कीमतों में बढ़ोतरी की गई थी, जिसके बाद मंगलवार को कई स्थानों पर लोगों ने इसके खिलाफ प्रदर्शन किया था. द्वीपीय राष्ट्र में तेल इकाइयां ईंधन की कमी के कारण नियमित रूप से कीमतों में बढ़ोतरी कर रही हैं.

श्रीलंका 1948 में ब्रिटेन से आजादी मिलने के बाद से अब तक के इतिहास में अभूतपूर्व आर्थिक और ऊर्जा संकट का सामना कर रहा है. देश में ईंधन की कीमतें आसमान छू रहीं हैं. श्रीलंका में लोग राष्ट्रपति गोटाबया राजपक्षे और उनकी पार्टी श्रीलंका पोदुजाना (पेरामुना) के नेतृत्व वाली सरकार के इस्तीफे की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

(भाषा की रिपोर्ट)

Similar Posts