शिवराज के मंत्री ने ही खोली मिड डे मील की पोल, बोले- मेरे क्षेत्र के स्कूलों में नहीं बंट रहा भोजन

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार को लिखे पत्र में कैबिनेट मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि उनकी विधानसभा के 100 से अधिक स्कूलों में बीते 6 माह से मध्यान भोजन का वितरण नहीं किया जा रहा है. इससे लोगों में काफी आक्रोश है.

कैबिनेट मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह (फाइल फोटो).

Image Credit source: tv9 bharatvarsh

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने सरकारी स्कूलों में बांटे जा रहे मध्यान भोजन (एमडीएम) को लेकर सवाल उठाए हैं. कैबिनेट मंत्री शिक्षा मंत्री को लिखे पत्र में कहा कि मेरे विधानसभा क्षेत्र के 100 से अधिक स्कूलों में छह माह से मध्यान भोजन नहीं बंट रहा है. कुछ दिन पूर्व बच्चों ने इसकी शिकायत की थी. उसके बावजूद भी शिक्षा विभाग नहीं जागा. वहीं कैबिनेट मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के पत्र से शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है.

बता दें, पन्ना जिले के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के हक मध्यान भोजन में मनमानी और व्यवस्थाओं की पोल खुल गई. अभी तक अभिभावक और बच्चे ही भोजन वितरण पर सवाल खड़े कर रहे थे, लेकिन अब खुद कैबिनेट मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने व्यवस्थाओं को कटघरे में खड़ा कर दिया है. कैबिनेट मंत्री ने स्कूल शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर बताया है कि उनकी विधानसभा के अजयगढ़ क्षेत्र के 100 से अधिक स्कूलों में करीब छह महीने से एमडीएम का वितरण नहीं हुआ है.

100 से अधिक स्कूलों में नहीं बंट रहा एमडीएम

वहीं पत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार को लिखे पत्र में कैबिनेट मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र में भ्रमण के दौरान अजयगढ़ के स्थानीय जनप्रतिनिधियों और गणमान्य लोगों ने उन्हें बताया कि 100 से भी अधिक स्कूलों में बीते 6 माह से मध्यान भोजन का वितरण नहीं किया जा रहा है, जिस वजह से बच्चों और अभिभावकों के साथ ही क्षेत्रीय जनता में भी काफी असंतोष है. यह स्थिति चिंताजनक है. उन्होंने मध्यान भोजन वितरण में लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित कराए जाने की भी मांग की है.

ये भी पढ़ें



15 दिन में व्यवस्थाओं में सुधार करे विभाग

बताया जा रहा है कि खाद्यान्न को लेकर हो रही समस्या पर समूह की महिलाओं द्वारा अधिकारियों को पूर्व में कई बार अवगत कराया गया है. बीते महीनों समूह की महिलाओं ने प्रदर्शन कर मुख्यालय में चक्का जाम भी किया था. इसके बाद भी जिम्मेदारों ने समस्याओं की ओर ध्यान नहीं दिया. ऐसे हालात बने कि मंत्री तक को मामले में संज्ञान लेना पड़ा. वहीं कैबिनेट मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि आगामी 15 दिनों में व्यवस्थाओं में सुधार हो जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.