वीडियो देखकर रस्सी कूदना सीख रहा था 9 साल का मासूम, गर्दन में लगा फंदा और हुई मौत; बिना पोस्टमार्टम परिजनों को सौंपा गया शव

Deah Body

देश की राजधानी नई दिल्ली (Delhi) में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक 9 साल का मासूम खेल-खेल में मौत को प्यारा हो गया. बताया जा रहा है कि मासूम यूट्यूब पर वीडियो देखकर रस्सी कूदना सीख रहा था, तभी रस्सी मासूम की गर्दन में फंस गई और उसकी दम घुटने से मौत हो गई. परिवार के लोग मासूम को लेकर अस्पताल भागे, जहां डॉक्टरों ने मृत बताया. उधर, अस्पताल पहुंची पुलिस ने भी घटना को हादसा मानकर शव बिना पोस्टमार्टम कराए परिजनों को सौंप दिया. खेल-खेल में मासूम की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है.
मामला न्यू उस्मानपुर थाना स्थित करतार नगर इलाके का है. यहां के जे-ब्लॉक में अरविंद सिंह अपने परिवार के साथ रहते हैं. अरविंद साहिबाबाद की एक कंपनी में अकाउंट्स मैनेजर हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, परिवार दूसरी मंजिल पर रहता है और पहली मंजिल पर अरविंद का छोटा भाई सुनील और ग्राउंड फ्लोर में सालिग राम अपने परिवार के साथ रहता है. गुरुवार को अरविंद काम के सिलसिले में घर से बाहर थे. घर के बाकी लोग इधर-उधर थे. अरविंद की पत्नी लक्ष्मी छोटे बेटे किट्टू को कमरे में सुला रही थी. तभी शाम करीब 4 बजे 9 साल का हार्दिक (5वीं क्लास का छात्र) अपने कमरे में यूट्यूब पर वीडियो देखकर रस्सी कूदना सीख रहा था.

…तो ऐसे हुई मौत

मासूम हार्दिक दूसरी मंजिल के एक कमरे में रस्सी कूदने का वीडियो देखकर खेल खेल रहा था. उसके पास ही दीवार से सटी एक चारपाई (खाट) खड़ी थी. अचानक उसकी रस्सी चारपाई के पाए (उसके पैर) में उलझी और हार्दिक के गले में रस्सी का फंदा लग गया. कूदने की वजह से झटका लगा और हार्दिक वहीं लटका रह गया. बराबर वाले में कमरे मां अपने दूसरे बच्चे को सुला रही थी. जब वो हार्दिक को देखने आई तो उसके होश उड़ गए.

बिना पोस्टमार्टम परिवार को सौंपा शव

वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले में परिजनों से पूछताछ की. बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया, लेकिन परिजनों के पोस्टमार्टम न कराने के अनुरोध पर शव परिवार को सौंप दिया गया.

Similar Posts