विशालकाय अजगर ने कुत्ते को बनाया निशाना, बेरहमी से जकड़ कर किया शिकार, उतारा मौत के घाट

किंग कोबरा और करैत के अलावा अजगर भी कम खतरनाक नहीं होते हैं. ये इतने विशालकाय और ताकतवर होते हैं कि उन्हें देखते ही इंसानों के पसीने छूट जाते हैं. हाल के दिनों में कानपुर से एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है.

अजगर ने कुत्ते को उतारा मौत के घाट

Image Credit source: Tv9 network

बरसात का मौसम है और इस समय जमीन के अंदर बिल बनाकर रहने वाले जहरीले जीव पानी भर जाने की वजह से बाहर निकल कर आ रहे हैं और अपने भोजन की तलाश में आबादी क्षेत्रों में भटक रहे हैं . बीते शनिवार को कानपुर में 8 फुट के अजगर ने क्षेत्र में निकलकर लोगों में दहशत पैदा कर दी है.अजगर निकलने की जानकारी जब स्थानीय लोगों को लगी तो उन्होंने अजगर को जंगल की ओर भगा दिया.

रोडवेज कॉलोनी के लोगों ने अजगर निकलने की जानकारी कानपुर की वन विभाग टीम को भी दी. लेकिन वन विभाग की टीम मौके पर आकर अजगर को पकड़ पाती उससे पहले अजगर ने कुत्ते को अपना निवाला बना लिया .

रावतपुर रोड वेज कालोनी में विशालकाय अजगर ने जिंदा कुत्ते को निगल लिया यह देख कर स्थानीय लोगो की रूह कांप गई. इस घटना के बाद से इलाके में लोग घरों में छोटे बच्चों को कैद करें और बाहर नहीं जाने दे रहे हैं. कल घटना हो जाने के बाद भी देर शाम तक वन विभाग की टीम मौके पर नहीं गई जिसके कारण लोगों में काफी असंतोष व्याप्त था.नवाबगंज से रावतपुर रोडवेज कॉलोनी कभी रोडवेज एम्पलाई के लिए बनी थी. जिसके कई क्वार्टर आज पूरी तरीके से जर्जर और खंडहर नुमा हो गए हैं.

अजगर ने कुत्ते का मुंह निगल लिया

यहां के काफी हिस्से में एक बड़ा जंगल आता है .उसी जंगल से यह अजगर आबादी क्षेत्र में कल पहुंच गया था. अजगर का कुत्ते को निवाला बनाने का एक वीडियो क्षेत्रीय लोगों ने बनाया जिसमें देखा जा सकता है की अजगर ने कुत्ते का मुंह निगल रखा है. और अपने शरीर से कुत्ते को जकड़ रखा है और कुत्ते की मौत हो चुकी है .अजगर की कारगुजारी के बाद क्षेत्र में हड़कंप मचा है क्योंकि अजगर अभी पकड़ा नहीं गया है कुत्ते को निवाला बनाने के बाद अजगर फिर से जंगल की ओर जाकर कहीं गायब हो गया है.

ये भी पढ़ें



फिलहाल आज वन विभाग अधिकारियों को बुला यह वीडियो दिखा कर क्षेत्रीय रोडवेज कॉलोनी के लोगों ने अजगर को पकड़ने की गुहार लगाई है. क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि रोडवेज कॉलोनी में जो परिवार रह रहे हैं उनके बच्चे बाहर निकलते हैं तो उनकी जान को खतरा है. अजगर को पकड़ने के लिए वन विभाग ने अपने तीन कर्मचारियों को तैनात किया है. वन विभाग की टीम ने भी अजगर की तलाश तलाश में कई घंटों जंगल की खाक छानी लेकिन अभी तक वह पकड़ में नहीं आया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.