राजस्थान में बढ़ सकती है कांग्रेस की टेंशन, सचिन पायलट के साथ टक्कर में आए ये युवा नेता

“मुझ पर जूता फेंकवाकर सचिन पायलट यदि मुख्यमंत्री बने तो जल्दी से बन जाए क्योंकि आज मेरा लड़ने का मन नहीं है. जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो फिर एक ही बचेगा और यह मैं चाहता नहीं हूँ.

सचिन पायलट

Image Credit source: @SachinPilot

राजस्थान में कांग्रेस की मुश्किलें थमती नजर नहीं आ रही है. राज्य के खेल मंत्री अशोक चंदना ने अपने उस ट्वीट का मतलब बताया है जो इसी सप्ताह उन्होंनो पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट को टार्गेट करते हुए किया था. साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि 2020 से ही पायलट के समर्थक उन्हें सोशल मीडिया पर ‘गाली’ दे रहे हैं.

उन्होंने एएनआई से कहा कि मेरे ट्वीट से मेरा मतलब यह था कि अगर हमारे समर्थक आप (सचिन पायलट) पर जूते और चप्पल फेंकते हैं, जैसे आप अपने समर्थकों को करने देते हैं, तो राजनीति से बाहर होना निश्चित है; हम में से कोई एक बचेगा, या कोई नहीं. सोमवार को, गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अस्थि विसर्जन के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर पायलट समर्थकों द्वारा हिंडोली विधायक और गहलोत सरकार में खेल मंत्री पर जूते फेंके थे.

…तो पायल बन जाएं मुख्यमंत्री

इसके बाद अशोक चंदना ने ट्वीट किया था कि “मुझ पर जूता फेंकवाकर सचिन पायलट यदि मुख्यमंत्री बने तो जल्दी से बन जाए क्योंकि आज मेरा लड़ने का मन नहीं है. जिस दिन मैं लड़ने पर आ गया तो फिर एक ही बचेगा और यह मैं चाहता नहीं हूँ.” हालांकि सचिन पायलट ने उनके इस ट्वीट का कोई जवाब नहीं दिया था. यह भी बता दें कि जिस कार्यक्रम में अशोक चंदना के साथ यह घटना हुई, उस कार्यक्रम में सचिन पायलट शामिल नहीं हुए थे.

चंदना ने कहा, “उनके समर्थक दो साल से सोशल मीडिया पर मुझे गालियां दे रहे हैं… 10-15 दिन पहले एक विधायक ने कहा था कि जो गुर्जर कांग्रेस सरकार गिराने के लिए सचिन पायलट के साथ नहीं थे, वे देशद्रोही हैं और समाज को उन्हें सबक सिखाना चाहिए.”

ये भी पढ़ें



मंत्रिपद से हटने की जताई थी इच्छा

मई में, चंदना ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से उनके ‘अपमानजनक’ पद से मुक्त होने का अनुरोध किया था. हालांकि, अनुरोध स्वीकार नहीं किया गया था. राजस्थान में अगले साल दिसंबर में मतदान होना है. हालांकि अक्सर पांच साल बाद राज्य में सरकार बदल जाया करती है लेकिन सचिन पायल यह हमेशा से कहते रहे हैं कि इस बार कांग्रेस दोबारा सत्ता में आकर इतिहास बदल देगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.