मोहाली MMS कांड: देर रात छात्रों ने वापस लिया प्रदर्शन, इंसाफ के लिए जारी रहेगी जंग

Chandigarh University

मोहाली के चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में 60 से ज्यादा छात्राओं के नहाते वक्त वीडियो बनाकर इंटरनेट पर डालने के मामले में दूसरे दिन भी छात्रों का धरना प्रदर्शन चलता रहा. जिसके बाद पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन्हें शांत कराया और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया. वहीं छात्रों का कहना है कि हम आरोपियों पर हो रही कार्रवाई पर नजर रखेंगे. अगर कार्रवाई में ढील होगी तो हम फिर से धरना प्रदर्शन करेंगे. हालांकि इसके बाद छात्रों ने धरना प्रदर्शन को विराम दिया है. वहीं कॉलेज की छुट्टी 2 दिन से बढ़ाकर 6 दिन कर दी गई है.

देर रात यूनिवर्सिटी प्रशासन, स्थानीय प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के समझाने के बाद चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में धरना लगाकर बैठे छात्रों ने अपने धरने को टालने का फैसला लिया है. हालांकि छात्रों ने कहा कि वो अभी भी इंसाफ के लिए अपनी लड़ाई जारी रखेंगे और यूनिवर्सिटी प्रशासन और पुलिस की कार्रवाई पर नजर रखेंगे और जरूरत पड़ी तो एक बार फिर से धरना लगाया जा सकता है.

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कैंपस में रविवार शाम से ही धरना लगाकर इंसाफ की मांग कर रहे छात्रों के धरने को स्थानीय प्रशासन ने देर रात करीब 1:30 बजे खत्म करवाने का ऐलान किया. देर रात तक छात्रों, स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों और यूनिवर्सिटी अथॉरिटीज के बीच कई बार मीटिंग हुई और उसके बाद ये ऐलान किया गया.

पुलिस ने 3 आरोपियों को हिरासत में लिया

मोहाली के डीसी अमित तलवार ने बताया कि स्थानीय प्रशासन ने छात्रों को ये समझाया है कि इस मामले में उचित कार्रवाई की जा रही है. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. किसी भी लड़की का अगर वीडियो वायरल हुआ है तो उसे लेकर भी संजीदगी के साथ पूरी कार्रवाई की जाएगी. जिसके बाद छात्रों ने अपने धरने को खत्म कर दिया है. मामले में आरोपी लड़की के साथ ही उसके दोस्त और एक अन्य लड़के की गिरफ्तारी हो चुकी है.

पंजाब पुलिस के डीआईजी गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि छात्रों को समझाया गया है. मामले में पंजाब पुलिस कानून के मुताबिक सख्त कार्रवाई कर रही है. आगे भी इस पूरे मामले की जांच जारी रहेगी. इस समझाइश के बाद छात्र स्थानीय प्रशासन की बात को मानते हुए अपने धरने को खत्म कर रहे हैं.

यूनिवर्सिटी कुछ नहीं छिपा रही

यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर स्टूडेंट्स वेलफेयर अरविंदर सिंह कंग ने बताया कि यूनिवर्सिटी कुछ भी छुपाने की कोशिश नहीं कर रही है. आशंका है कि कुछ लड़कियां मिसिंग है और उन्हें सामने नहीं आने दिया जा रहा है, वे लड़कियां खुद ही इस मामले में सामने नहीं आना चाहती और अपने परिवार के साथ अपने घरों के लिए चली गई हैं. ऐसी कोई भी बात नहीं है कि किसी लड़की ने सुसाइड करने का प्रयास किया है. लड़कियां पूरी तरह से सुरक्षित हैं.