मोर को मारी गोली, दो नामजद और एक अज्ञात के खिलाफ FIR, दो महीने में पांच मौतों से हड़कंप

Mathura

मथुरा (Mathura) के गोवर्धन रेंज के मुड़सेरस गांव में 2 दिन पहले राष्ट्रीय पक्षी मोर (National Bird Peacock) की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इससे पहले गोवर्धन रेंज में 2 माह के अंदर 5 मोरों की अज्ञात कारणों से मौत हो चुकी है. गोवर्धन रेंज में लगातार हो रही राष्ट्रीय पक्षियों की मौत का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. मोर की हत्या के मामले में वन विभाग ने छानबीन कर थाना गोवर्धन में दौलतपुर गांव के रहने वाले सलीम और अजमल और एक अज्ञात के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया है. वहीं अब आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस (Mathura Police) और वन विभाग की टीम जुटी हुई है.

लगातार हो रही मोरों की मौत

वहीं डीएफओ रजनीकांत मित्तल ने बताया कि पूरे मामले की जांच के लिए टीम का गठन किया गया है. उन्होंने कहा कि बारीकी से पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट मांगी गई है. डीएफओ रजनीकांत ने बताया कि 2 दिन पहले मोर की गोली मारने की सूचना मिली थी. इसके बाद मोर के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया गया था. इससे पहले भी कई मोरों की मौत हुई है.

मोर पंख बेचने वाले भी रडार पर

साथ ही मंदिरों के आस-पास मोर पंख बेचने वाले लोगों से भी वन विभाग की टीम छानबीन कर रही है. बता दें कि जिले में धार्मिक स्थलों के बाहर बड़ी संख्या में मोर पंख बेचे जाते हैं. प्रत्येक मोर पंख को करीब 50 रुपए में बेचा जाता है. आशंका जाहिर की जा रही है कि कहीं इन्हीं कारणों से तो मोर का शिकार नहीं किया जा रहा.

2 महीने में 5 मोर की मौत

राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौतों के पीछे और कौन-कौन लोग शामिल हैं. इसका पता करने में वन विभाग की टीम और पुलिस जुटी है. हालांकि सबसे बड़ा सवाल ये है कि 2 महीने में 5 मोर की मौत के बाद भी प्रशासन गहरी नींद में क्यों सोया हुआ था.

Similar Posts