मुंबई की झोपड़पट्टी में छापे जा रहे हैं जाली नोट, मानखुर्द इलाके से जब्त की गई 7 लाख रुपए से ज्यादा की करेंसी

मुंबई की मानखुर्द पुलिस ने झोपडपट्टी के एक कमरे से नकली नोट छापने के धंधे का भंडाफोड़ किया है. कांदीवली इलाके में रहने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

मुंबई में मिला नकली नोटों का जखीरा (सांकेतिक तस्वीर)

Image Credit source: social media

मुंबई के झोपड़पट्टी में जाली नोट छापे जा रहे थे.मानखुर्द इलाके में पुलिस को एक घर में जाली नोट छापे जाने की सूचना मिली थी. एक स्लम के मकान में 50 ,100 और 200 रुपये के नकली नोट बनाए जा रहे थे.पुलिस ने मकान में रेड की तो नोट छापने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले सामान बरामद हुए. यहां मारी गई रेड में कुल 7 लाख 16 हजार 150 रुपये के नकली नोट बरामद किए गए हैं.इस मामले में आरोपी रोहित शाह को गिरफ्तार किया गया है.

इस मामले में मुंबई की मानखुर्द पुलिस ने जिस शख्स को गिरफ्तार किया है, उसकी उम्र 22 साल है. वह एक निजी कंपनी में सेल्समैन का काम करता है. लेकिन यह काम तो लोगों को दिखाने और बताने के लिए है. असल में वो चुपचाप जाली नोटों को छापने और उसे मार्केट में चलाने का धंधा कर रहा था.

मुंबई के स्लम में मिला नकली नोटों का जखीरा, मानखुर्द पुलिस ने पकड़ा

आरोपी रोहित मनोज शाह मुंबई के कांदिवली इलाके का रहने वाला है. उसने मानखुर्द में नकली नोटों की छपाई का सेट अप तैयार कर रखा था. आरोपी को नकली नोटों के धंधे से जुड़े आईपीसी की सेक्शंस के तहत गिरफ्तार किया गया है.

200, 100, 50 के नोटों की शुरू थी छपाई, रेड पड़ी तो बात सामने आई

पुलिस ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा है कि उन्हें मानखुर्द के स्लम एरिया के एक मकान में 100,200 और 50 रुपए के नकली नोट छापे जाने की सूचना मिली थी.सूचना मिलने के बाद मुंबई की मानखुर्द पुलिस फौरन हरकत में आई और संबंधित मकान में छापेमारी की तो सात लाख रुपए से ज्यादा के नकली नोटों का जखीरा बरामद हुआ.

7,16,150 रुपए की फेक करेंसी बरामद- लैपटॉप, प्रिंटर भी जब्त

पुलिस ने छापेमारी कर नोटों का बड़ा जखीरा बरामद कर लिया है. इस छापेमारी के बाद पुलिस को 7 लाख 16 हजार 150 रुपए की फेक करेंसी हासिल हुई. साथ ही पुलिस ने कमरे के अंदर से जाली नोट छापने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले लैपटॉप और प्रिंटर को भी जब्त कर लिया. आरोपी रोहित मनोज शाह से पूछताछ शुरू है. पुलिस यह जानने की कोशिश कर रहीहै कि वो कितने समय से इस काले कारोबार से जुड़ा हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.