मंदिर में 17 साल पहले हुई चोरी, 95 करोड़ की मूर्तियों के साथ 10 चोर गिरफ्तार

यह मूर्तियां करीब 15 वर्ष पहले बांदा के उछाह गांव के मंदिर से चोरी हुई थी. अब चोर इन मूर्तियों को केरल के एक कारोबारी को बेचना चाह रहे थे. इसके लिए इन्होंने 25 से 30 करोड़ रुपए में सौदा भी कर लिया था.

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले से 17 साल पहले चोरी हुई अष्टधातु की बेसकीमती मूर्तियों के साथ कौशांबी पुलिस ने दस अंतरजनपदीय चोरों को गिरफ्तार किया है. 108 किलो वजन वाली इन मूर्तियों की कीमत आज के अंतरराष्ट्रीय बाजार भाव के हिसाब से करीब 95 करोड़ रुपये बताई जा रही है. इनमें एक मूर्ति को तो चोरों ने 5 हिस्से में खंडित कर दिया है, जबकि दूसरी मूर्ति सही सलामत मिली है. चोरों ने वारदात को अंजाम देने के बाद इन मूर्तियों को कई साल तक चित्रकूट के रैपुरा गांव में जमीन के अंदर दबाकर रखा था.

पुलिस ने बताया यह मूर्तियां करीब 15 वर्ष पहले बांदा के उछाह गांव के मंदिर से चोरी हुई थी. अब चोर इन मूर्तियों को केरल के एक कारोबारी को बेचना चाह रहे थे. इसके लिए इन्होंने 25 से 30 करोड़ रुपए में सौदा भी कर लिया था. इससे पहले चोरों ने एक मूर्ति को खंडित कर उसके टुकड़ों को देश के अलग अलग हिस्सों में भेजा था. इसमें मूर्तियों की कीमत करीब 25 करोड़ रुपये आंकी गई थी. लेकिन डील फाइनल होने से ठीक पहले पुलिस को भनक लग गई और पुलिस ने चोरों को गिरफ्तार कर लिया है. एसपी कौशांबी हेमराज मीणा ने बताया कि मूर्तियों को बरामद करने के बाद चोरों को जेल भेज दिया गया है.

मामला शांत होने तक जमीन में दबा रखी थी मूर्तियां

जानकारी के मुताबिक वारदात के समय खूब हो हल्ला मचा था. ऐसे में चोरों को पकड़े जाने का डर था. ऐसे में इन्होंने मामला शांत होने तक मूर्तियों को रैपुरा गांव में जमीन के नीचे दबा दी. इधर, कई साल बाद भी जब मामले का खुलासा नहीं हुआ तो पुलिस भी शांत पड़ गई. इसके बाद चोरों ने इन मूर्तियों की बिक्री की योजना पर काम शुरू कर दिया.

बांदा का ही रहने वाला है एक चोर

पुलिस ने बताया कि इस वारदात में शामिल एक आरोपी बांदा का ही रहने वाला है. उसी ने इन मूर्तियों की जानकारी अपने साथियों को दी थी. उसके बाद कौशांबी के तीन और चित्रकूट के छह चोरों ने उसके साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया. एसपी हेमराज मीना ने बताया कि इन सभी चोरों को महेवाघाट पुलिस ने यमुना ब्रिज की तरफ से आते समय गिरफ्तार किया है.

दोनों मूर्तियां ठाकुर जी

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से ठाकुर जी महाराज की दो अष्टधातु की मूर्तियां बरामद हुई हैं. इन मूर्तियों का वजन 1 कुंटल 8 किलो ग्राम है. अंतरराष्ट्रीय मार्केट में इन दोनों मूर्तियों की कीमत लगभग 95 करोड़ बताई जा रही है. उन्होंने बताया कि इन चोरों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि जिले में अब तक की सबसे बड़ा खुलासा है.

ये भी पढ़ें



मोहम्मद यासीन की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.