भारत में हुए स्वागत से खुश दिखे बोरिस जॉनसन, PM मोदी को धन्यवाद देकर कहा- पहले कभी नहीं देखा ऐसा जोरदार वेलकम

Boris And Modi

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) शुक्रवार को अपने भारत दौरे के अंतिम दिन दिल्ली पहुंचे. उन्होंने गुरुवार को गुजरात के अहमदाबाद का दौरा किया था. शुक्रवार को सुबह उन्हें राष्ट्रपति भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी इस दौरान मौजूद रहे. इससे पहले उन्होंने राजघाट पर पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. बोरिस जॉनसन भारत (Boris Johnson India Visit) में हुए उनके जोरदार स्वागत से बेहद खुश हैं. उन्होंने इसके लिए पीएम मोदी को धन्यवाद भी दिया है. वहीं पीएम मोदी ने जॉनसन के साथ होने वाली बैठक से पहले ट्वीट करके कहा, ‘भारत में आपकी बहुप्रतीक्षित यात्रा के दौरान आपको यहां पर देखकर अच्छा लगा मेरे मित्र पीएम बोरिस जॉनसन.’

बोरिस जॉनसन ने शुक्रवार को कहा, ‘आज मैं यहां दिल्ली में हूं. मैं मेरे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद देता हूं, मेरे इस जोरदार स्वागत के लिए. इससे पहले मैंने शायद इतना जोरदार स्वागत कहीं नहीं देखा.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि भारत और ब्रिटेन के बीच इस समय जो अच्छे रिश्ते हैं, वो शायद ही पहले कभी रहे हों. यह क्षण दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत और सबसे बड़े लोकतंत्र में से एक ब्रिटेन के बीच दोस्ती व संबंधों के लिए बेहद खास है.’

आज होगी पीएम मोदी से मुलाकात

भारत आए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और पीएम मोदी के बीच आज वार्ता होनी है. माना जा रहा है कि भारत इस दौरान कई अहम मुद्दों को ब्रिटेन के सामने उठाएगा. वहीं शुक्रवार को बोरिस जॉनसन ने कहा कि दुनिया निरंकुश देशों से बढ़ते खतरों का सामना कर रही है, जो लोकतंत्र को कमतर, मुक्त व्यापार को खत्म करने और संप्रभुता को कुचलना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि भारत और ब्रिटेन के बीच जलवायु परिवर्तन से लेकर ऊर्जा सुरक्षा और रक्षा तक के मुद्दों पर भागीदारी महत्वपूर्ण है.

मुलाकात में अहम मुद्दों पर चर्चा संभव

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने गुरुवार को इस बात के संकेत दिए कि जब वह शुक्रवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे तो वह मुश्किल मुद्दे उठाएंगे. माना जा रहा है कि मुश्किल मुद्दों से इशारा उत्तर-पश्चिम दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में बीजेपी शासित उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) द्वारा अतिक्रमण विरोधी अभियान के हिस्से के तौर पर कुछ संपत्तियों के विवादास्पद विध्वंस की ओर भी है.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने गुरुवार को कहा था कि उनका देश यूक्रेन युद्ध का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष कूटनीतिक स्तर पर पहले ही उठा चुका है. बोरिस जॉनसन ने साथ ही कहा था कि हर कोई इस बात को समझता है कि भारत और रूस के बीच ऐतिहासिक रूप से बहुत अलग संबंध हैं.

Similar Posts