भारत में कोविड के मामले बढ़ने शुरू, विशेषज्ञों ने कहा- संक्रमण के लक्षण पहले जैसे ही हैं

Covid

पिछले कुछ दिनों से भारत में कोविड-19 (Corona) मामले एक बार फिर से बढ़ रहे है. गुरुवार को देश में 2,067 नए मामले सामने आए. यह एक दिन पहले की गिनती (19 अप्रैल, 2022) की तुलना में 65 प्रतिशत अधिक है. देश में 1,247 मामले दर्ज किए गए थे. इस बार खासकर बड़ी संख्या में बच्चे कोरोना संक्रमित (Covid In childrens) हो रहे हैं. अब तक बच्चों में इसकी गंभीरता कम रही है, फिर भी उनमें संक्रमण तेजी से फैल सकता है, क्योंकि अधिकतर बच्चे अभी भी वैक्सीनेटेड नहीं है. हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर किसी व्यक्ति को बुखार या नाक बहने जैसी कोई शिकायत है, तो उसे डॉक्टरों से सलाह लेनी चाहिए.

दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल में इंटरनल मेडिसिन के कंसल्टेंट सुरनजीत चटर्जी ने बताया कि अब भी कोविड-19 के लक्षण ज्यादा नहीं बदले हैं, शरीर में दर्द, बुखार और नाक बहना अब भी खास लक्षण हैं. दस्त और शरीर में दर्द जैसे कुछ लक्षण थोड़े बढ़ गए हैं. गले में खराश की शिकायत अब कम हो रही हैं.

मरीजों की बढ़ती संख्या का कारण ओमिक्रॉन है?

डॉ. चटर्जी ने कहा कि यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि किस व्यक्ति में कोविड के किस प्रकार का वेरिएंट मौजूद है. उन्होंने कहा कि हम लक्षणों से वेरिएंट का अंदाजा नहीं लगा सकते. यह जीनोम सीक्वेन्सिंग के बाद ही पता लगाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि अब जबकि देश में अधिकांश वयस्क आबादी का टीकाकरण कर हो चुका है, ऐसे में डेल्टा वेरिएंट के भी इसी तरह के हल्के लक्षण दिखाई देने की उम्मीद है.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, जनवरी से मार्च तक दिल्ली में कोविड से मरने वालों के 97 प्रतिशत नमूनों में कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट मौजूद था. मृतकों से लिए गए 578 नमूनों में से 560 में ओमिक्रॉन वायरस पाए गए, बाकी 18 (तीन प्रतिशत) में डेल्टा सहित कोविड -19 के दूसरे वेरिएंट मिले, जिसने पिछले साल अप्रैल और मई में तबाही मचाई थी.

दिल्ली में मास्क पहनना अनिवार्य

शहर में कोविड मामलों में वृद्धि के बीच, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने मौजूदा स्थिति पर चर्चा करने के लिए बुधवार को बैठक की और मास्क पहनना अनिवार्य करने का फैसला किया. डीडीएमए ने कहा कि उल्लंघन करने वालों पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई वर्चुअल बैठक में राजधानी में ज्यादा से ज्यादा टेस्ट शुरू करने के लिए कहा गया. उम्मीद की जा रही है कि सरकार जल्द ही मास्क के अनिवार्य उपयोग के संबंध में एक आधिकारिक आदेश जारी कर सकती है.

Similar Posts