भारत ने बिना नाम लिए UN में पाकिस्तान को लिया आड़े हाथ, लश्कर और जैश के रिश्ते को बताया क्षेत्र के लिए खतरा

Ts Tirumurti 1

भारत ने गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान (Pakistan) का नाम लिए बिना वहां के आतंकी संगठनों के बीच संबंधों पर चिंता जताई है. उसने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) जैसे संगठनों के बीच संबंध क्षेत्र के लिए प्रत्यक्ष खतरा हैं. साथ ही भारत ने यह सुनिश्चित करने के लिए एकीकृत अंतरराष्ट्रीय कार्रवाई का आह्वान किया कि अफगानिस्तान आतंकवादी समूहों (Afghanistan Terrorist Organizations) के लिए पनाहगाह नहीं बने.

पाकिस्तान की ओर परोक्ष तौर पर इशारा करते हुए भारत ने यह भी कहा कि प्रतिबंधित संगठनों को इस क्षेत्र में स्थित आतंकी पनाहगाहों से कोई मदद नहीं मिलना भी सुनिश्चित किया जाए. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति ने यूएनएएमए पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में कहा कि अफगानिस्तान में आईएसआईएल-खोरासन की मौजूदगी और हमले करने की उनकी क्षमता में खासी वृद्धि हुई है. आईएसआईएल-खोरासन, आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का एक सहयोगी समूह है, जो कि अफगानिस्तान से अपनी गतिविधियां चलाता है.

इस खबर को अपडेट किया जा रहा है…

Similar Posts