बुरी खबर! हुंडई का बड़ा फैसला, बंद हुआ सबसे ज्यादा बिकने वाली कारों में से एक सेंट्रो का प्रोडक्शन!

Cars

कार कंपनियां डिमांड के आधार पर अपने वेरिएंट्स की लिस्ट को लगातार अपडेट करती रहती हैं. वेरिएंट्स की ये लिस्ट बेहतर इस्तेमाल के लिहाज से ज्यादा प्रॉफिट और मार्जिन के मद्देनजर तय की जाती है. इसी स्ट्रैटेजी पर काम करते हुए देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी हुंडई (Hyundai) ने एक बड़ा फैसला किया है. कंपनी ने कुल कई कारों के वेरिएंट्स का उत्पादन बंद करने का फैसला किया है. कंपनी ने डीलरों को कहा है कि वो इन मॉडलों की नई बुकिंग बंद कर दें और साथ में जो गाड़ियां स्टॉक में बची हैं, उन्हें निकालने पर जोर दें.

हुंडई कंपनी मारुति सुजुकी के बाद भारत में सबसे ज्यादा गाड़ियां बेचने वाली कंपनी है. लेकिन कंपनी ने प्रॉफिट और मार्जिन को देखते हुए सेंट्रो के सभी 10 वेरिएंट्स, i10 Nios हैचबैक और Aura सेडान के कुछ मॉडल्स का प्रोडक्शन बंद करने का ऐलान किया है. लेटेस्ट अपडेट के मुताबिक अब हुंडई सिर्फ सेंट्रो के सीएनजी वेरिएंट का ही उत्पादन करेगी. जबकि i10 Nios और Aura सिर्फ पेट्रोल इंजन में मौजूद होंगी.

Nios and Aura के वेरिएंट

हुंडई ने Grand i10 Nios के वेरिएंट्स को कम किया है. इनमें Era, Magna, Sportz, Turbo और Asta जैसे मॉडल शामिल हैं. इन सभी के साथ डीजल के Sportz और Sportz AMT वेरिएंट को कंपनी ने बंद करने का फैसला किया है. इसका मतलब हुआ है कि Grand i10 Nios के सभी डीजल वेरिएंट अब कंपनी ने बनाने बंद कर दिे हैं. ये कार अब पेट्रोल में मिलेगा. ऐसा ही Aura के साथ है. अब Aura सिर्फ सीएनजी और पेट्रोल वेरिएंट में ग्राहकों के लिए मौजूद होगी.

Aura के ये वेरिएंट होंगे बंद

Aura E,S,SX, SX(+) और SX(O) मॉडल्स में मौजूद है लेकिन कंपनी ने Aura के डीजल वेरिएंट्स बंद करने का फैसला किया है. इस लिस्ट में S और SX+AMT शामिल है. Nios की तरह Aura अब सीएनजी और पेट्रोल वेरिएंट्स में ही ग्राहकों के लिए मिलेगी. कंपनी ने ये फैसला डीजल इंजन की घटती मांग को देखते हुए उठाया है. Nios और Aura एक जैसे पावरट्रेन ऑप्शन्स में मौजूद हैं.

नए वेरिएंट्स लाएगी हुंडई

मांग को देखते हुए हुंडई ने सेंट्रो के सीएनजी वेरिएंट को छोड़कर सभी को बंद करने का फैसला लिया है. सेंट्रो का सिर्फ स्पोर्ट्स सीएनजी मॉडल ग्राहकों के लिए मौजूद होगा. कंपनी ने ये भी फैसला लिया है कि वो जल्द ही कुछ और वेरिएंट्स को लॉन्च करने का फैसला कर रही है. कंपनी ने ये फैसला पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को देखते हुए किया है. लोगों का ध्यान इसके चलते सीएनजी की तरफ बढ़ा है लेकिन प्रोडक्शन के मामले में वो कितना ग्राहकों को समय पर कार मुहैया करा पाती है ये बड़ी चुनौती होगी.

Similar Posts