बर्थडे पार्टी में आई साली को जीजा के भाई से हुआ ऐसा प्यार की खरमास में रचाई शादी, पढ़ें पूरी लव स्टोरी

News, Patna कहते हैं प्यार और उसमें इंकार होता ही रहता है लेकिन बिहार में एक प्रेमी जोड़े ने न केवल सात दिन की जान पहचान में एक दूजे को दिल दे दिया बल्कि सात जन्मों तक साथ रहने के लिए शादी के बंधन में भी बंध गए.

खास बात ये है कि इस शादी को खरमास (जिस महीने में बिहार में हिंदुओं की शादियां नहीं होती हैं) में ही किया गया वो भी पंचायती के बाद.

प्रेम-प्रसंग में शादी का ये मामला पटना से सटे नौबतपुर इलाके का है. इस शादी में दुल्हन एक युवक की साली बनी तो दुल्हा उसका भाई. दोनों को महज 7 दिनों में ही सात जन्मों का प्यार मिल गया जिसके बाद मुखिया और सरपंच ने मिलकर गांव के ही शिव मंदिर में दोनों की शादी करवा दी और दोनों को जन्म जन्मांतर का साथी बना दिया.

मंदिर में ही दोनों की हिंदू रीति रिवाज के साथ पंडित को बुलाकर मंगल गीतों के साथ शादी करवा दी गई. 7 दिनों का प्यार सात जन्मों का प्यार बन गया जो कि इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है. नौबतपुर के कर्णपुरा गांव में प्रेमी जोड़े की हुई शादी में महिलाओं ने मंगल गीत गाए और प्रेमी जोड़े शादी के बंधन में बंध गये.

कर्णपुरा गांव के मनीष कुमार के घर सात दिन पहले दानापुर के नासरीगंज से आई उसके भाई की साली की शादी आनन-फानन में स्वजनों ने खरमास माह में ही बिना शुभ मुहूर्त के शिव मंदिर में कराई. इस शादी के लिए दोनों पक्ष के लोग एकत्रित हुए.

इस बीच कर्णपुरा गांव के लोग भी मंदिर पहुंचे दोनों के स्वजनों को मंदिर बुलाया गया और फिर मंगल गीत गाए जाने लगे. इसके बाद बाजार से शादी का जोड़ा मंगाया गया और दोनों का हिन्दु रीति रिवाज से मंदिर में विवाह संपन्न कराया गया. बिना मुहूर्त और बैंड-बाजे की शादी में दर्जनों ग्रामीण शरीक भी हुए.

इस संबंध में नौबतपुर थानाध्यक्ष सम्राट दीपक ने बताया कि थाना क्षेत्र के कर्णपुरा गांव में एक प्रेमी जोड़े की शादी हुई है. घटना की जानकारी लोगों के द्वारा मिली है, लेकिन थाने में दोनों पक्षों की तरफ से कोई लिखित आवेदन नहीं दिया गया है. फिलहाल आवेदन आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Similar Posts