बजरंग पुनिया ने सेकेंड्स में पलटी बाजी, विश्व चैंपियनशिप में जीता ब्रॉन्ज मेडल

बजरंग पुनिया ने अपने करियर में अभी तक विश्व चैंपियनशिप में चार पदक जीते हैं जिसमें से तीन कांस्य हैं और एक रजत पदक है.

बजरंग पुनिया ने विश्व चैंपियनशिप में जीता पदक, (File Pic)

भारत के पुरुष पहलवान और ओलिंपिक पदक विजेता खिलाड़ी बजरंग पुनिया ने एक बार फिर देश की झोली में मेडल डाला है. बजरंग ने शनिवार को विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में 65 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में दमदार वापसी करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया है. उन्होंने कांस्य पदक के मैच में पोर्टे रिको के सेबास्टियन रिवेरा को कड़े मुकाबले में 11-9 से हरा दिया. ये बजरंग का विश्व चैंपियनशिप में कुल चौथा पदक है. इससे पहले वे तीन बार और पदक जीत चुके हैं.

बजंरग ने सबसे पहले 2013 में विश्व चैंपियनशिप में पदक जीता था. उन्होंने तब कांस्य पदक अपने नाम किया था. इसके बाद बजरंग ने 2018 में रजत पदक जीता था और फिर वह 2019 में कांस्य पदक जीतने में सफल रहे थे. उन्होंने हालांकि अभी तक विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक नहीं जीता है. इस बार उनसे उम्मीद थी कि वह इस सूखे को खत्म करेंगे लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाए.

कड़ा रहा मुकाबला

बजंरग को क्वार्टर फाइनल में अमेरिका के जॉन डियाकोमिनहालिस ने हरा दिया था और इसी के साथ बजरंग स्वर्ण पदक की रेस से बाहर हो गए थे. फिर उन्हें रेपचाज खेलने का मौका मिला जहां उन्होंने अर्मेनिया के वाजगेन तेवानयान को मात दे कांस्य पदक के मुकाबले में कदम रखा. इस मुकाबले में बजरंग को सिर में चोट लग गई थी लेकिन फिर भी वह जीत हासिल कर पदक की रेस में बने रहे. पदक मुकाबला बजरंग के लिए आसान नहीं रहा था. वह 0-6 से पीछे चल रहे थे. इसके बाद उन्होंने वापसी करते हुए 11-9 के अंतर से जीत हासिल की.

ये भी पढ़ें



ऐसा रहा भारत का सफर

भारत का इस साल विश्व चैंपियनशिप में प्रदर्शन ज्यादा अच्छा नहीं रहा. उसके सिर्फ दो पहलवान ही उसे पदक दिला सके. बजरंग के अलावा विनेश फोगाट ने महिला वर्ग में देश की झोली में कांस्य पदक डाला. उन्होंने 53 किलोग्राम भारवर्ग में ये पदक जीता. निशा दहिया (68 किलोग्राम भारवर्ग), सागर जागलान (74 किलोग्राम भारवर्ग), नवीन मलिक (70 किलोग्राम भारवर्ग) पदक जीतने के करीब पहुंचे लेकिन जीत नहीं सके

Leave a Reply

Your email address will not be published.